यूपी में IPS अधिकारियों के कार्यक्षेत्र में कटौती, ये है नया फरमान

ips-up

लखनऊ। यूपी में आईपीएस अधिकारीयों के अधिकारों में कटौती की गयी है। प्रमुख सचिव राजीव कुमार के नए फरमान ने सभी को चौंका दिया है। नए निर्देशों के मुताबिक, अब जिलों में तैनात वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक(एसएसपी) जिलाधिकारी के अंडर में काम करेंगे। यह आदेश सुनकर आईपीएस अधिकारियों में काफी आक्रोश है। आदेश जारी होने के बाद अब जिले की क्राइम मीटिंग जिलाधिकारी लेंगे, हालांकि इस दौरान एसएसपी भी मौजूद रहेंगे।

ये हैं नए निर्देश-

{ यह भी पढ़ें:- तीन मंत्रियों संग धरने पर बैेठे एलजी से नाराज अरविन्द केजरीवाल }

  • अपराध को लेकर जिलाधिकारी अब सीधे सवाल पूछेंगे।
  • थानाध्यक्षों की तैनाती में औपचारिकता नहीं चलेगी।
  • क्राइम मीटिंग में जिलाधिकारी के साथ एसएसपी भी मौजूद होंगे।

सरकार के इस फरमान के बाद आईपीएस लॉबी में दबी जुबान भारी विरोध शुरू हो गया है। फिलहाल देखना ये होगा कि जिले के एसएसपी और डीएम इस निर्देश के बाद किस हद तक अमली जमा पहना सकेंगे।

{ यह भी पढ़ें:- सपा एमएलसी बोले, सीएम योगी के आदेश पर हुई अखिलेश यादव के घर में तोड़फोड़ }

लखनऊ। यूपी में आईपीएस अधिकारीयों के अधिकारों में कटौती की गयी है। प्रमुख सचिव राजीव कुमार के नए फरमान ने सभी को चौंका दिया है। नए निर्देशों के मुताबिक, अब जिलों में तैनात वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक(एसएसपी) जिलाधिकारी के अंडर में काम करेंगे। यह आदेश सुनकर आईपीएस अधिकारियों में काफी आक्रोश है। आदेश जारी होने के बाद अब जिले की क्राइम मीटिंग जिलाधिकारी लेंगे, हालांकि इस दौरान एसएसपी भी मौजूद रहेंगे। ये हैं नए निर्देश- अपराध को लेकर जिलाधिकारी अब सीधे…
Loading...