इकबाल मिर्ची केस : प्रफुल्ल पटेल पहुंचे ईडी दफ्तार, जांच एजेंसी ने जारी किया था नोटिस

patel
इकबाल मिर्ची केस : प्रफुल्ल पटेल पहुंचे ईडी दफ्तार, जांच एजेंसी ने जारी किया था समन

मुंबई। अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के सहयोगी इकबाल मिर्ची से की गई कथित लैंड डील मामले में प्रफुल्ल पटेल ईडी दफ्तर पहुंचे हैं। कथित डील को लेकर जांच एजेंसी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल को समन जारी किया था। अधिकारियों ने मंगलवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री पटेल से 18 अक्टूबर को मुंबई में बयान दर्ज कराने को कहा था।

Iqbal Mirchi Case Ed Office Reached Praful Patel Investigation Agency Issued Summons :

आरोप है कि प्रफुल्ल पटेल के परिवार की कंपनी ने कथित तौर पर दाऊद इब्राहिम के करीबी इकबाल ​मेमन मिर्ची के परिवार के साथ वित्तीय साझेदारी और जमीन का सौदा किया था। इसकी जांच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कर रही है। मिर्ची नाम से कुख्यात दिवंगत इकबाल मेमन और प्रफुल्ल पटेल के परिवार की प्रमोटिड कंपनी के बीच यह वित्तीय सौदा हुआ था।

वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने सभी आरोपों को झूठा बताया था। उनका कहना है कि, इसमें काल्पनिक विचार और कागजात हैं, जो मीडिया में लीक किए गए हैं। बता दें कि, ईडी विमानन घोटाले से जुड़े धनशोधन के एक अन्य मामले में पहले ही उनसे पूछताछ कर चुकी है। ईडी के अधिकारियों के अनुसार पटेल की मिलेनियम डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड ने 2006-07 में सीजे हाउस नामक इमारत बनाई थी।

इसकी तीसरी और चौथी मंजिलों को मिर्ची की पत्नी हाजरा इकबाल के नाम हस्तांतरित कर दिया गया। वहीं, प्रफुल्ल पटेल और उनकी पार्टी ने संपत्ति के दस्तावेज दिखाते हैं कि लेनदेन साफ-सुथरा और पारदर्शी है। ईडी ने हाल ही में मिर्ची के दो कथित सहयोगियों को गिरफ्तार किया था।

मुंबई। अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के सहयोगी इकबाल मिर्ची से की गई कथित लैंड डील मामले में प्रफुल्ल पटेल ईडी दफ्तर पहुंचे हैं। कथित डील को लेकर जांच एजेंसी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल को समन जारी किया था। अधिकारियों ने मंगलवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री पटेल से 18 अक्टूबर को मुंबई में बयान दर्ज कराने को कहा था। आरोप है कि प्रफुल्ल पटेल के परिवार की कंपनी ने कथित तौर पर दाऊद इब्राहिम के करीबी इकबाल ​मेमन मिर्ची के परिवार के साथ वित्तीय साझेदारी और जमीन का सौदा किया था। इसकी जांच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कर रही है। मिर्ची नाम से कुख्यात दिवंगत इकबाल मेमन और प्रफुल्ल पटेल के परिवार की प्रमोटिड कंपनी के बीच यह वित्तीय सौदा हुआ था। वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने सभी आरोपों को झूठा बताया था। उनका कहना है कि, इसमें काल्पनिक विचार और कागजात हैं, जो मीडिया में लीक किए गए हैं। बता दें कि, ईडी विमानन घोटाले से जुड़े धनशोधन के एक अन्य मामले में पहले ही उनसे पूछताछ कर चुकी है। ईडी के अधिकारियों के अनुसार पटेल की मिलेनियम डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड ने 2006-07 में सीजे हाउस नामक इमारत बनाई थी। इसकी तीसरी और चौथी मंजिलों को मिर्ची की पत्नी हाजरा इकबाल के नाम हस्तांतरित कर दिया गया। वहीं, प्रफुल्ल पटेल और उनकी पार्टी ने संपत्ति के दस्तावेज दिखाते हैं कि लेनदेन साफ-सुथरा और पारदर्शी है। ईडी ने हाल ही में मिर्ची के दो कथित सहयोगियों को गिरफ्तार किया था।