ईरान ने ब्रिटिश ऑयल टैंकर पर किया कब्जा, फंसे क्रू में 18 भारतीय भी शामिल

jahaj
ईरान ने ब्रिटिश ऑयल टैंकर पर किया कब्जा, शिप में फंसे क्रू में 18 भारतीय भी शामिल

नई दिल्ली। खाड़ी में तनाव के बीच होर्मुज के स्ट्रेट(Strait of Homruz) में ब्रिटिश तेल टैंकरों को ईरान द्वारा जब्त कर लिया गया है। इन तेल टैंकर में पकड़े गए एक टैंकर के अंदर 23 क्रू मेंबर में से 18 भारतीय नागरिक हैं। एक जानकारी के मुताबिक कब्जे में लिए गए एक जहाज में 23 क्रू मेंबर हैं, जिनमें 18 भारतीय मूल के नागरिक भी शामिल हैं।

Iran Says It Captured British Oil Tanker Uk Hits Out Claims 2 Seized :

अधिकारियों के अनुसार अभी तक यह तय नहीं है कि जहाज पर कितने क्रू मेंबर भारतीय हैं। भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि, हम आगे की जानकारी का पता लगा रहे हैं। हमारा मिशन भारतीय नागरिकों की शीघ्र रिहाई है। प्रत्यावर्तन को सुरक्षित करने के लिए हम ईरान सरकार के साथ लगाताक संपर्क में है। 18 भारतीय और पांच चालक दल के सदस्य रूस, फिलिप, लात्विया और अन्य देशों से हैं।कप्तान भारतीय है, लेकिन टैंकर ब्रिटेन का है।

यूके जब्त कर चुका है ईरान का टैंकर

यूके और ईरान के बीच तनाव इसी महीने की शुरुआत में बढ़ा था। ब्रिटिश रॉयल मरीन ने यूरोपीय कानून तोड़ने के लिए ईरान के एक टैंकर ‘ग्रेस’ को जिब्राल्टर से जब्त कर लिया था। बताया गया था कि टैंकर सीरिया से तेल लेकर जा रहा था। इसके बाद ईरान ने भी ब्रिटेन को उसका तेल टैंकर जब्त करने की धमकी दी थी। 10 जुलाई को कुछ ईरानी शिप ने एक टैंकर जब्त करने की कोशिश भी की, लेकिन ब्रिटिश युद्धपोत के साथ होने की वजह से उसे पीछे हटना पड़ा था। ईरान ने बाद में ऐसी किसी भी कोशिश से इनकार किया था।

अमेरिका ने होरमुज की खाड़ी में मार गिराया था ड्रोन

एक दिन पहले ही अमेरिका ने दावा किया था कि होरमुज की खाड़ी में तैनात उसके युद्धपोत ने एक ईरानी ड्रोन को मार गिराया। बताया गया था कि यूएसएस बॉक्सर ने बचाव के लिए यह कार्रवाई तब की जब ड्रोन उससे 1000 यार्ड्स (918 मीटर) से भी कम दूरी पर आ गया। ड्रोन से शिप और उसके क्रू की जान पर खतरा था। शिप के हमले में ड्रोन पूरी तरह तबाह हो गया। हालांकि, ईरान ने अपने ड्रोन के नुकसान की बात को नकार दिया था।

नई दिल्ली। खाड़ी में तनाव के बीच होर्मुज के स्ट्रेट(Strait of Homruz) में ब्रिटिश तेल टैंकरों को ईरान द्वारा जब्त कर लिया गया है। इन तेल टैंकर में पकड़े गए एक टैंकर के अंदर 23 क्रू मेंबर में से 18 भारतीय नागरिक हैं। एक जानकारी के मुताबिक कब्जे में लिए गए एक जहाज में 23 क्रू मेंबर हैं, जिनमें 18 भारतीय मूल के नागरिक भी शामिल हैं। अधिकारियों के अनुसार अभी तक यह तय नहीं है कि जहाज पर कितने क्रू मेंबर भारतीय हैं। भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि, हम आगे की जानकारी का पता लगा रहे हैं। हमारा मिशन भारतीय नागरिकों की शीघ्र रिहाई है। प्रत्यावर्तन को सुरक्षित करने के लिए हम ईरान सरकार के साथ लगाताक संपर्क में है। 18 भारतीय और पांच चालक दल के सदस्य रूस, फिलिप, लात्विया और अन्य देशों से हैं।कप्तान भारतीय है, लेकिन टैंकर ब्रिटेन का है। यूके जब्त कर चुका है ईरान का टैंकर यूके और ईरान के बीच तनाव इसी महीने की शुरुआत में बढ़ा था। ब्रिटिश रॉयल मरीन ने यूरोपीय कानून तोड़ने के लिए ईरान के एक टैंकर ‘ग्रेस’ को जिब्राल्टर से जब्त कर लिया था। बताया गया था कि टैंकर सीरिया से तेल लेकर जा रहा था। इसके बाद ईरान ने भी ब्रिटेन को उसका तेल टैंकर जब्त करने की धमकी दी थी। 10 जुलाई को कुछ ईरानी शिप ने एक टैंकर जब्त करने की कोशिश भी की, लेकिन ब्रिटिश युद्धपोत के साथ होने की वजह से उसे पीछे हटना पड़ा था। ईरान ने बाद में ऐसी किसी भी कोशिश से इनकार किया था। अमेरिका ने होरमुज की खाड़ी में मार गिराया था ड्रोन एक दिन पहले ही अमेरिका ने दावा किया था कि होरमुज की खाड़ी में तैनात उसके युद्धपोत ने एक ईरानी ड्रोन को मार गिराया। बताया गया था कि यूएसएस बॉक्सर ने बचाव के लिए यह कार्रवाई तब की जब ड्रोन उससे 1000 यार्ड्स (918 मीटर) से भी कम दूरी पर आ गया। ड्रोन से शिप और उसके क्रू की जान पर खतरा था। शिप के हमले में ड्रोन पूरी तरह तबाह हो गया। हालांकि, ईरान ने अपने ड्रोन के नुकसान की बात को नकार दिया था।