ईरान ने इजरायल को बताया ट्यूमर, कहा- इस वायरस को करना होगा खत्म

khmnei
ईरान ने इजरायल को बताया ट्यूमर, कहा- इस वायरस को करना होगा खत्म

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातोल्लाह अली खामनेई ने शुक्रवार को इजरायल पर निशाना साधते हुए उसे ‘कैंसर ट्यूमर’ करार दिया. उन्होंने फलीस्तिनियों के समर्थन में एक वार्षिक भाषण के दौरान कहा, ‘इसे निस्संदेह उखाड़ दिया जाएगा और नष्ट कर दिया जाएगा.’ इसे मध्य-पूर्व में ईरान के सबसे कट्टर दुश्मन के लिए नयी धमकी के तौर पर देखा जा रहा है.

Iran Told Israel The Tumor Said This Virus Will Have To End :

खामनेई ने ‘कुद्स दिवस’ के मौके पर यह भाषण दिया, जिसके दौरान तेहरान समेत देश के अन्य हिस्सों में सरकार समर्थित विशाल प्रदर्शन दिखायी देता है. यरुशलम का अरबी नाम ‘अल-कुद्स’ है.

इसके कारण खामनेई ने राष्ट्र के नाम 30 मिनट का भाषण दिया, जिसका सरकारी चैनल पर प्रसारण किया गया. कोरोना वायरस महामारी के कारण ईरान ने व्यापक तौर पर प्रदर्शनकारियों को घरों में ही रहने का आह्वान किया.

अपने भाषण के दौरान, उन्होंने कई बार इजरायल को कैंसर और ट्यूमर करार दिया. साथ ही इजरायल की सैन्य एवं अन्य सहायता के लिए अमेरिका और पश्चिमी देशों की आलोचना भी की.

ईरान-इजरायल के बीच साइबर वॉर!

लंबे समय से आपसी दुश्मनी में उलझे ईरान और इजरायल के बीच हाल ही में साइबर अटैक के मामले आए हैं. इजरायली मीडिया के मुताबिक बीते दिनों इजरायल की कई वेबसाइट्स पर साइबर अटैक किए गए और उनके होमपेज को गायब कर दिया गया.

इजरायली मीडिया के मुताबिक होमपेज में हीब्रू और अंग्रेजी में इजरायल को धमकाने वाले संदेश और वीडियो पोस्ट किए गए थे. इजरायली मीडिया इसके लिए ईरान को जिम्मेदार बता रहा है.

वहीं कुछ दिन पहले ही ईरान के सबसे बड़े बंदरगाह, शाहिद राजई टर्मिनल पर भी साइबर अटैक हुआ था. जानकारों के मुताबिक इसके पीछे इजरायल का हाथ है.

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातोल्लाह अली खामनेई ने शुक्रवार को इजरायल पर निशाना साधते हुए उसे 'कैंसर ट्यूमर' करार दिया. उन्होंने फलीस्तिनियों के समर्थन में एक वार्षिक भाषण के दौरान कहा, 'इसे निस्संदेह उखाड़ दिया जाएगा और नष्ट कर दिया जाएगा.' इसे मध्य-पूर्व में ईरान के सबसे कट्टर दुश्मन के लिए नयी धमकी के तौर पर देखा जा रहा है. खामनेई ने 'कुद्स दिवस' के मौके पर यह भाषण दिया, जिसके दौरान तेहरान समेत देश के अन्य हिस्सों में सरकार समर्थित विशाल प्रदर्शन दिखायी देता है. यरुशलम का अरबी नाम 'अल-कुद्स' है. इसके कारण खामनेई ने राष्ट्र के नाम 30 मिनट का भाषण दिया, जिसका सरकारी चैनल पर प्रसारण किया गया. कोरोना वायरस महामारी के कारण ईरान ने व्यापक तौर पर प्रदर्शनकारियों को घरों में ही रहने का आह्वान किया. अपने भाषण के दौरान, उन्होंने कई बार इजरायल को कैंसर और ट्यूमर करार दिया. साथ ही इजरायल की सैन्य एवं अन्य सहायता के लिए अमेरिका और पश्चिमी देशों की आलोचना भी की. ईरान-इजरायल के बीच साइबर वॉर! लंबे समय से आपसी दुश्मनी में उलझे ईरान और इजरायल के बीच हाल ही में साइबर अटैक के मामले आए हैं. इजरायली मीडिया के मुताबिक बीते दिनों इजरायल की कई वेबसाइट्स पर साइबर अटैक किए गए और उनके होमपेज को गायब कर दिया गया. इजरायली मीडिया के मुताबिक होमपेज में हीब्रू और अंग्रेजी में इजरायल को धमकाने वाले संदेश और वीडियो पोस्ट किए गए थे. इजरायली मीडिया इसके लिए ईरान को जिम्मेदार बता रहा है. वहीं कुछ दिन पहले ही ईरान के सबसे बड़े बंदरगाह, शाहिद राजई टर्मिनल पर भी साइबर अटैक हुआ था. जानकारों के मुताबिक इसके पीछे इजरायल का हाथ है.