पूर्व मंत्री राजकिशोर सिंह की फर्जी फर्म के खिलाफ सिंचाई विभाग ने दिए जांच के आदेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सिंचाई विभाग में फर्जी फर्म और अपने करीबी के आड़ में ठेकेदारी कर रहे पूर्व मंत्री राजकिशोर सिंह की फर्म के खिलाफ के जांच के आदेश हो गए हैं। प्रमुख सचिव सिंचाई, सुरेश चंद्रा का कहना है कि उन्होंने भारद्वाज कंस्ट्रक्शन के खिलाफ मिली शिकायत के आधार पर एक चीफ इंजीनियर को जांच करने की जिम्मेदारी सौंपी है। अखिलेश सरकार में भ्रष्टाचार के आरोपों में बर्खास्त किए गए पूर्व कैबिनेट मंत्री राजकिशोर सिंह के भारद्वाज कंस्ट्रक्शन में संलिप्तता ने इस मामले को गंभीर बना दिया है।

प्रमुख सचिव सिंचाई से हुई मुलाकात में उन्होंने बताया कि यह मामला उनके संज्ञान में आया था। यदि विभाग में ऐसा चल रहा है और नियमों की अनदेखी करते हुए किसी कंपनी को ठेके दिए गए हैं तो यह अपने आप में बेहद गंभीर है। इस मामले में एक चीफ इंजीनियर से जांच करवाई जा रही है। पर्दाफाश की खबर के माध्यम से सामने आई जानकारी जांच में सही होने पर दोषी अधिकारी और फर्म के​ खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

{ यह भी पढ़ें:- मुलायम ने लोहिया ट्रस्ट से रामगोपाल को हटा शिवपाल को बनाया सचिव }