IS ने ली श्रीलंका में हमले की जिम्मेदारी, अब तक 300 लोगों की हो चुकी है मौत

shri lanka
आईएस ने ली श्रीलंका में हमले की जिम्मेदारी, अब तक धमाकों में 300 लोगों की हो चुकी है मौत

कोलंबो। श्रीलंका में हुए सिलसिलेवार धमाकों में अब तक 300 लोगों की जान चली गयी है, जबकि 350 लोग घायल हैं। वहीं इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है। रविवार को ईस्टर के मौके पर देश में 8 जगहों पर सिलसिलेवार रूप से बम धमाके हुए थे।

Is Has Responsibility For The Attack In Sri Lanka :

श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और पांच सितारों में हुए सिलसिलेवार धमाकों में अ​ब तक 300 लोगों की मौत हो चुकी है। धमाके में मरने वालों में 10 भारतीय भी शामिल हैं। श्रीलंका में आज संसद का विशेष सत्र बुलाया गया है, इस सत्र में मृतकों को श्रद्धांजलि दी जाएगी।

आज ही देश में शोक दिवस भी मनाया जा रहा है। बता दें कि धमकों में मरने वालों में 10 भारतीय भी शामिल हैं, जिसमें जनता दल (सेक्यूलर)यानी जेडीएस के नेता भी शामिल हैं। गौरतलब हो कि ईस्टर के मौके पर आठ बम धमाकों में 300 लोगों की जान चली गयी है।

घायलों का उपचार अस्पतालोें में चल रहा है। श्रीलंका ने इस हमले को एक बड़ी चूक माना है और इसके लिए विदेशी आतंकियों को जिम्मेदार ठहराया है। श्रीलंका की सरकार की ओर से इस हमले का जिम्मेदार श्रीलंकाई मुस्लिम ग्रुप नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) को ठहराया गया है।

कोलंबो। श्रीलंका में हुए सिलसिलेवार धमाकों में अब तक 300 लोगों की जान चली गयी है, जबकि 350 लोग घायल हैं। वहीं इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है। रविवार को ईस्टर के मौके पर देश में 8 जगहों पर सिलसिलेवार रूप से बम धमाके हुए थे। श्रीलंका में रविवार को ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और पांच सितारों में हुए सिलसिलेवार धमाकों में अ​ब तक 300 लोगों की मौत हो चुकी है। धमाके में मरने वालों में 10 भारतीय भी शामिल हैं। श्रीलंका में आज संसद का विशेष सत्र बुलाया गया है, इस सत्र में मृतकों को श्रद्धांजलि दी जाएगी। आज ही देश में शोक दिवस भी मनाया जा रहा है। बता दें कि धमकों में मरने वालों में 10 भारतीय भी शामिल हैं, जिसमें जनता दल (सेक्यूलर)यानी जेडीएस के नेता भी शामिल हैं। गौरतलब हो कि ईस्टर के मौके पर आठ बम धमाकों में 300 लोगों की जान चली गयी है। घायलों का उपचार अस्पतालोें में चल रहा है। श्रीलंका ने इस हमले को एक बड़ी चूक माना है और इसके लिए विदेशी आतंकियों को जिम्मेदार ठहराया है। श्रीलंका की सरकार की ओर से इस हमले का जिम्मेदार श्रीलंकाई मुस्लिम ग्रुप नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) को ठहराया गया है।