ISIS-K ने पिछले साल भारत में रची थी हमले की साजिश, अमेरिका के अधिकारी ने किया खुलासा

isisi
आईएसआईएस ने पिछले साल भारत में रची थी हमले की साजिश, अमेरिका के अधिकारी ने किया खुलासा

नई दिल्ली। अबु बकर अल-बगदादी के मारे जाने के बाद भी इस आतंकी संगठन का खतरा कम नहीं हुआ है। यह आतंकी संगठन दुनियाभर में फैल चुका है। अमेरिका का कहना है कि, दुनिया में इस समय आईएसआईएस की 20 शाखाएं मौजूद हैं। सबसे बड़ी बात है कि इसकी एक शाखा ​दक्षिण एशिया में भी सक्रिय है। आईएसआईएस के खुरासान समूह उर्फ आईएसआईएस-के ने पिछले साल भारत में आत्मघाती हमले की साजिश रची थी। अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने सांसदों को यह जानकारी दी।

Isis Plotted Attack In India Last Year 20 Branches Still Exist :

राष्ट्रीय आतंकवाद निरोध केंद्र के कार्यवाहक निदेशक, राष्ट्रीय खुफिया विभाग के निदेशक कार्यालय के रसेल ट्रेवर्स ने मंगलवार को कहा कि, वास्तव में आईएस की सभी शाखाओं में आईएसआईएस-के (खोरासन) वह संगठन है जो अमेरिका के लिए सबसे अधिक चिंता का विषय है। भारतीय मूल की सांसद मैगी हसन के एक सवाल के जवाब में उन्होंने यह बात कही।

हसन ने बताया कि, आईएस की सभी शाखाओं और नेटवर्क में से आईएसआईएस—के एक ऐसी शाखा है, जो सबसे बड़ी चिंता की बात है। इसमें 4,000 लड़ाके हैं। उन्होंने अफगानिस्तान के बाहर हमले करने की कोशिश की। पिछले साल उन्होंने भारत में एक आत्मघाती हमला करने की कोशिश की। जो कि असफल रहा। पिछले हफ्ते ट्रेवर्स ने कहा कि आईएस की दुनियाभर में 20 शाखाएं हैं।

जिसमें से कुछ परिष्कृत तकनीक का उपयोग कर रहे हैं। जैसे कि ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल। सांसद हसन ने कहा कि बेशक अमेरिका ने सीरिया और इराक में आईएस पर जीत हासिल की है लेकिन यह आतंकी संगठन उसके लिए बहुत बड़ा खतरा बना हुआ है।

नई दिल्ली। अबु बकर अल-बगदादी के मारे जाने के बाद भी इस आतंकी संगठन का खतरा कम नहीं हुआ है। यह आतंकी संगठन दुनियाभर में फैल चुका है। अमेरिका का कहना है कि, दुनिया में इस समय आईएसआईएस की 20 शाखाएं मौजूद हैं। सबसे बड़ी बात है कि इसकी एक शाखा ​दक्षिण एशिया में भी सक्रिय है। आईएसआईएस के खुरासान समूह उर्फ आईएसआईएस-के ने पिछले साल भारत में आत्मघाती हमले की साजिश रची थी। अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने सांसदों को यह जानकारी दी। राष्ट्रीय आतंकवाद निरोध केंद्र के कार्यवाहक निदेशक, राष्ट्रीय खुफिया विभाग के निदेशक कार्यालय के रसेल ट्रेवर्स ने मंगलवार को कहा कि, वास्तव में आईएस की सभी शाखाओं में आईएसआईएस-के (खोरासन) वह संगठन है जो अमेरिका के लिए सबसे अधिक चिंता का विषय है। भारतीय मूल की सांसद मैगी हसन के एक सवाल के जवाब में उन्होंने यह बात कही। हसन ने बताया कि, आईएस की सभी शाखाओं और नेटवर्क में से आईएसआईएस—के एक ऐसी शाखा है, जो सबसे बड़ी चिंता की बात है। इसमें 4,000 लड़ाके हैं। उन्होंने अफगानिस्तान के बाहर हमले करने की कोशिश की। पिछले साल उन्होंने भारत में एक आत्मघाती हमला करने की कोशिश की। जो कि असफल रहा। पिछले हफ्ते ट्रेवर्स ने कहा कि आईएस की दुनियाभर में 20 शाखाएं हैं। जिसमें से कुछ परिष्कृत तकनीक का उपयोग कर रहे हैं। जैसे कि ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल। सांसद हसन ने कहा कि बेशक अमेरिका ने सीरिया और इराक में आईएस पर जीत हासिल की है लेकिन यह आतंकी संगठन उसके लिए बहुत बड़ा खतरा बना हुआ है।