इजराइल ने सीरिया के 12 ठिकानों को तबाह कर लिया लड़ाकू विमान गिराने का बदला

इजराइल ने सीरिया के 12 ठिकानों को तबाह कर लिया लड़ाकू विमान गिराने का बदला
इजराइल ने सीरिया के 12 ठिकानों को तबाह कर लिया लड़ाकू विमान गिराने का बदला

वाशिंगटन। इजरायल का कहना है कि उसने बीते तीस वर्षों में सीरिया पर सबसे बड़े हवाई हमले किए हैं। इजरायली सेना के प्रवक्ता ने बताया है कि दमिश्क के पास 12 सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया है। रूस और अमेरिका ने इस घटनाक्रम पर चिंता जताई है।

Israel Carries Out Large Scale Attack In Syria After Israeli Jet Crash :

शनिवार सुबह इजरायल ने अपनी सीमा के भीतर एक ईरानी ड्रोन को मार गिराया था जो इलाके की जासूसी के लिए आकाश में आया था। इसके बाद इजरायली विमान सीमा पार करके सीरियाई इलाके में स्थित ईरानी ड्रोन संचालन केंद्र को निशाना बनाने के लिए गए। इसी दौरान सीरिया की विमानभेदी तोपों की फायरिंग की चपेट में एक इजरायली एफ-16 लड़ाकू विमान आ गया और वह गिर गया।

’12 ठिकानों को निशाना बनाया’

सीरियाई गोलीबारी का निशाना बनने के बाद ये जेट इजरायली क्षेत्र में गिरा था। वहीं अमेरिका और रूस का कहना है कि वो सीरिया और इजरायल की सीमा पर बड़ी हिंसा को लेकर चिंतित हैं। बीबीसी से बात करते हुए इजरायल सेना के प्रवक्ता जोनाथन कोनरीकस ने कहा, “हमने ख़ासतौर पर 12 अलग-अलग ठिकानों को निशाना बनाया जिनमें से 8 सीरिया की हवाई रक्षा प्रणाली से जुड़े हैं। ये वहीं हैं जिनसे इजरायली विमान पर मिसाइलें दागीं गईं थीं।

अन्य चार ठिकाने बेहद खास हैं क्योंकि वो सीरिया के भीतर ईरानी सैन्य ठिकानें थे। ये सभी सीरिया के भीतर ईरान के सैन्य प्रयासों का हिस्सा हैं।” इजरायल का ये भी कहना है कि सीरिया के भीतर सिर्फ़ सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया है।

वाशिंगटन। इजरायल का कहना है कि उसने बीते तीस वर्षों में सीरिया पर सबसे बड़े हवाई हमले किए हैं। इजरायली सेना के प्रवक्ता ने बताया है कि दमिश्क के पास 12 सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया है। रूस और अमेरिका ने इस घटनाक्रम पर चिंता जताई है।शनिवार सुबह इजरायल ने अपनी सीमा के भीतर एक ईरानी ड्रोन को मार गिराया था जो इलाके की जासूसी के लिए आकाश में आया था। इसके बाद इजरायली विमान सीमा पार करके सीरियाई इलाके में स्थित ईरानी ड्रोन संचालन केंद्र को निशाना बनाने के लिए गए। इसी दौरान सीरिया की विमानभेदी तोपों की फायरिंग की चपेट में एक इजरायली एफ-16 लड़ाकू विमान आ गया और वह गिर गया।'12 ठिकानों को निशाना बनाया'सीरियाई गोलीबारी का निशाना बनने के बाद ये जेट इजरायली क्षेत्र में गिरा था। वहीं अमेरिका और रूस का कहना है कि वो सीरिया और इजरायल की सीमा पर बड़ी हिंसा को लेकर चिंतित हैं। बीबीसी से बात करते हुए इजरायल सेना के प्रवक्ता जोनाथन कोनरीकस ने कहा, "हमने ख़ासतौर पर 12 अलग-अलग ठिकानों को निशाना बनाया जिनमें से 8 सीरिया की हवाई रक्षा प्रणाली से जुड़े हैं। ये वहीं हैं जिनसे इजरायली विमान पर मिसाइलें दागीं गईं थीं।अन्य चार ठिकाने बेहद खास हैं क्योंकि वो सीरिया के भीतर ईरानी सैन्य ठिकानें थे। ये सभी सीरिया के भीतर ईरान के सैन्य प्रयासों का हिस्सा हैं।" इजरायल का ये भी कहना है कि सीरिया के भीतर सिर्फ़ सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया है।