इजरायल ने फिलिस्तीन के 17 नागरिक को किया गिरफ्तार

israeli

नई दिल्ली। इजरायल ने गाजा स्थित हमास संचालन की ओर से आतंकी हमले की योजना बना रहे 17 फिलिस्तीनियों को गिरफ्तार कर लिया है। इजरायल सुरक्षा एजंसी (आईएसए) ने एक बयान में यह जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक, आईएसए ने सोमवार को कहा कि जांच के मुताबिक, एक हमास संचालक अबदल्लाह अरार इस सेल के पीछे था।

Israel Has Arrested 17 Palestinians For The Arrest :

आईएसए ने उसकी पहचान एक पूर्व जेल कैदी के रूप में की है जिसने 2005 में इजरायल नागरिक के अपहरण में शामिल होने के लिए जेल काटी थी। उसे 2011 में शालीत कैदियों के अदला बदली सौदे में रिहा किया गया और गाजा पट्टी से निकाला दिया गया था। आईएसए के मुताबिक, उस पर दक्षिणी वेस्ट बैंक के जबा गांव के निवासी अला सलीम द्वारा निर्देशित होने का संदेह है, ताकि एक सेल स्थापित किया जा सके और एम -16 को खरीद कर हमला किया जा सके।

एजेंसी ने कहा कि सलीम ने अपने साथी जबा निवासी रियान तौम से संपर्क किया और एम-16 खरीदने और उसे भारी मात्रा में पैसा जुटाने में सहायता देने का अनुरोध किया। आईएसए के एक अधिकारी ने बयान में कहा, “हाल ही में जुडिया और सामरिया (वेस्ट बैंक) में हमास के सदस्यों के माध्यम से हमलों को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया गया।” हमास एक इस्लामी संगठन है, जो फिलीस्तीनी घेरे के मुहासिरे से संचलित किया जाता है।

वेस्ट बैंक और गाजा पट्टी पर हिंसा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा छह दिसंबर को एक बयान में जेरुसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने का बाद बढ़ गई है।

नई दिल्ली। इजरायल ने गाजा स्थित हमास संचालन की ओर से आतंकी हमले की योजना बना रहे 17 फिलिस्तीनियों को गिरफ्तार कर लिया है। इजरायल सुरक्षा एजंसी (आईएसए) ने एक बयान में यह जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक, आईएसए ने सोमवार को कहा कि जांच के मुताबिक, एक हमास संचालक अबदल्लाह अरार इस सेल के पीछे था।आईएसए ने उसकी पहचान एक पूर्व जेल कैदी के रूप में की है जिसने 2005 में इजरायल नागरिक के अपहरण में शामिल होने के लिए जेल काटी थी। उसे 2011 में शालीत कैदियों के अदला बदली सौदे में रिहा किया गया और गाजा पट्टी से निकाला दिया गया था। आईएसए के मुताबिक, उस पर दक्षिणी वेस्ट बैंक के जबा गांव के निवासी अला सलीम द्वारा निर्देशित होने का संदेह है, ताकि एक सेल स्थापित किया जा सके और एम -16 को खरीद कर हमला किया जा सके।एजेंसी ने कहा कि सलीम ने अपने साथी जबा निवासी रियान तौम से संपर्क किया और एम-16 खरीदने और उसे भारी मात्रा में पैसा जुटाने में सहायता देने का अनुरोध किया। आईएसए के एक अधिकारी ने बयान में कहा, "हाल ही में जुडिया और सामरिया (वेस्ट बैंक) में हमास के सदस्यों के माध्यम से हमलों को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया गया।" हमास एक इस्लामी संगठन है, जो फिलीस्तीनी घेरे के मुहासिरे से संचलित किया जाता है।वेस्ट बैंक और गाजा पट्टी पर हिंसा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा छह दिसंबर को एक बयान में जेरुसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने का बाद बढ़ गई है।