यरुशलम: अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन से पहले हिंसक झड़प, 37 फिलिस्तीनियों की मौत

हिंसक झड़प,फिलिस्तीन, डॉनल्ड ट्रंप,इजरायल , अमेरिकी दूतावास,violence in Gaza,Palestine, israel , gaza stripe
यरुशलम: अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन से पहले हिंसक झड़प, 37 फिलिस्तीनियों की मौत
यरुशलम। अमेरिका ने इजरायल में अपने दूतावास को तेलअवीव से जेरूशलम में खोलने के बाद गाजा पट्टी पर फिलीस्तीनियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया है। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार व्हाइट हाऊस के प्रतिनिधि और इजराइली अधिकारी उद्घाटन कार्यक्रम के लिए पहुंचने वाले हैं, इसी बीच गाजा में झड़प होने से 37 लोगों के मारे जाने के अलावा 500 से अधिक फिलिस्तीनी घायल भी हो गये। जेरूशलम में अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन समारोह में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तो नहीं…

यरुशलम। अमेरिका ने इजरायल में अपने दूतावास को तेलअवीव से जेरूशलम में खोलने के बाद गाजा पट्टी पर फिलीस्तीनियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया है। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार व्हाइट हाऊस के प्रतिनिधि और इजराइली अधिकारी उद्घाटन कार्यक्रम के लिए पहुंचने वाले हैं, इसी बीच गाजा में झड़प होने से 37 लोगों के मारे जाने के अलावा 500 से अधिक फिलिस्तीनी घायल भी हो गये। जेरूशलम में अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन समारोह में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तो नहीं पहुंचे, लेकिन उनके प्रतिनिधियों में इवांका ट्रंप और रिपब्लिकन के मेंबर्स शामिल हुए। पिछले साल डोनाल्ड ट्रंप ने जेरूशलम को इजरायल की राजधानी घोषित किया थी।

मंत्रालय के अनुसार मारे गए लोगों में 14 वर्षीय एक बच्चा भी है। विरोध के लिए हजारों लोग सीमा पर पहुंचे थे। इस बीच कुछ लोग पथराव करते हुए बाड़ के नजदीक पहुंच गए और वे उसे पार करने की कोशिश करने लगे। उस पर इजरायली सुरक्षाकर्मियों ने मोर्चा संभाल रखा था। इजरायली सेना ने कहा, ‘करीब 1000 हिंसक उपद्रवी गाजा पट्टी सीमा के समीप जगह-जगह जमा हो गए थे और सुरक्षा बाड़ से करीब आधे किलोमीटर दूर हजारों अन्य जुटे थे।’

{ यह भी पढ़ें:- पाक आर्मी कमांडर ने इजरायल को दी धमकी, कहा- मिनटों में यहूदियों को उखाड़ फेकेंगे }

जेरूशलम में अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन समारोह में करीब 800 मेहमान पहुंचे हैं। इस दूतावास के खुलते ही अमेरिका पिछले करीब सात दशकों से चली आ रही एक परंपरा को तोड़ देगा और जेरूशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्‍यता देगा। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू जेरूशलम को यहूदियों की 3,000 साल पूरानी राजधानी बताते आए हैं। इजरायल अपनी राजधानी 70 साल से जेरूशलम को ही मानता आया है।

पीएम नेतन्याहू ने ट्रंप को दिया धन्यवाद

आपको बता दें कि रविवार को अमरीकी प्रतिनिधिमंडल इजराइल पहुंच गया था। अमरीकी प्रतिनिधिमंडल का स्वागत इजरायल के विदेश मंत्री ने किया और बाद में प्रधानमनंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने घर में मेहमानों को रात्रिभोज दिया। इस दौरान पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने ट्रंप की प्रशंसा करते हुए कहा कि “राष्ट्रपति ट्रंप आपके निर्भीक निर्णय के लिए धन्यवाद। इजरायल व अमेरिका के बीच गठजोड़ हमेशा के लिए मजबूत बनाने के लिए धन्यवाद।”

{ यह भी पढ़ें:- ट्रंप ने किम को दी धमकी, कहा- बात ना मानी तो तुम्हारा भी गद्दाफी जैसा हाल कर देंगे }

Loading...