एक साथ 82 सैटेलाइट लांच कर विश्व रिकॉर्ड बनाएगा इसरो, अमेरिका-रूस छूट जाएंगे पीछे

चेन्नई| भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो अगले साल एक साथ 82 सैटेलाइट लांच करके वर्ल्ड रिकार्ड बनाने जा रहा है। इसमें 60 सैटेलाइट अमेरिकी, 20 यूरोप की और 2 यूके की होंगी। फिलहाल अभी तक सबसे ज्यादा सैटेलाइट लॉन्च करने का रिकॉर्ड रूस के नाम है। रूस ने 19 जून, 2014 को एक साथ 37 सैटेलाइट को लॉन्च किया था| इसके बाद अमेरिका का नंबर है, उसने 19 नवंबर 2013 को 29 सैटेलाइट लॉन्च किए थे। जबकि इसके पहले इसी साल जून में भारत ने एकसाथ 20 सैटेलाइट लॉन्च किए थे।




एंट्रिक्स कॉरपोरेशन के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक राकेश शशिभूषण ने कहा, “हमारी योजना साल 2017 की पहली तिमाही में एक रॉकेट से 83 उपग्रहों को लॉन्च करने की है। भेजे जाने वाले अधिकांश उपग्रह नैनो उपग्रह हैं।” एंट्रिक्स कॉरपोरेशन इसरो की वाणिज्यिक शाखा है। उन्होंने कहा कि सभी 82 उपग्रहों को एक ही कक्षा में स्थापित करना है और इसलिए रॉकेट को स्विच ऑफ और स्विच ऑन करने की जरूरत नहीं होगी। प्रस्तावित मिशन की सबसे बड़ी चिंता सभी उपग्रहों को एक ही कक्षा में छोड़ने तक रॉकेट को एक ही जगह पर टिकाए रखना होगा।

उन्होंने कहा कि रिकॉर्ड 82 उपग्रहों की लॉन्चिंग के लिए इसरो ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान एक्सएल (पीएसएलवी-एक्सएल) रॉकेट का इस्तेमाल करेगा। इसरो के लिए एक बार में कई उपग्रहों का प्रक्षेपण कोई नई बात नहीं है, क्योंकि यह अतीत में ऐसा कई बार कर चुका है। शशिभूषण के मुताबिक, पीएसएलवी-एक्सएल रॉकेट का टोटल पे लोड लगभग 1,600 किलोग्राम होगा। अप्रकटीकरण अनुबंधों का हवाला देते हुए उन्होंने उन ग्राहकों का नाम बताने से इंकार कर दिया, जिनके रॉकेट कक्षा में छोड़े जाने हैं। उन्होंने कहा कि कुछ उपग्रह उनके हैं, जिनके उपग्रहों को पहले भी इसरो कक्षा में भेज चुका है।