कामयाब मंगल मिशन के बाद अब इसरो की नजरें शुक्र और बृहस्पति ग्रह पर

तिरूपति| कामयाब मंगल मिशन के बाद अब इसरो शुक्र और बृहस्पति ग्रह पर रिसर्च की तैयारी कर रहा है| इसरो के सहायक निदेशक एम नागेश्वर राव ने कहा कि इसरो अपने सफल ‘मार्स आर्बिटर मिशन’ के बाद अब अन्य ग्रहों पर गौर कर रहा है, जहां हम नई जानकारी जुटा सकें| उन्होंने कहा कि इसलिए हमने शुक्र और बृहस्पति ग्रह को लेकर कार्य करने का फैसला किया है|




नागेश्वर ने कहा, “अभियान के तहत यह विश्लेषण किया जाएगा कि हमें किस तरह के उपग्रह बनाने होंगे और हमें किस तरह के रॉकेट की जरूरत होगी| अध्ययन जारी है और एक ठोस योजना बनाने में कुछ साल लग सकते हैं|” उन्होंने बताया कि शुक्र पर उपग्रह भेजने का मौका 19 महीने में एक बार आता है|




उन्होंने बताया कि मार्स आर्बिटर मिशन के लिए एक ‘फॉलो अप’ मिशन की भी योजना बनाई जा रही है| हम मंगल के 70,000 किलोमीटर करीब जाना चाहते हैं| चंद्रयान-2 के लिए भी काम जारी है| परियोजना में एक लैंडर और एक रोवर शामिल है| इसलिए, पहली बार इसरो का चंद्रमा पर अपना लैंडर होगा जो अंतरिक्ष एजेंसी को चंद्रमा के बारे में ब्योरा देगा|