ISRO ने लांच किया GSAT-6A सैटेलाइट, जानें खूबियां

ISRO , GSAT-6A सैटेलाइट
ISRO ने लांच किया GSAT-6A सैटेलाइट, जानें खूबियां
नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने गुरुवार को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में सतीश धवन स्पेस सेंटर से GSAT 6A  लॉन्च किया। इसरो ने गुरुवार शाम 4.56 बजे GSAT-6A कम्युनिकेशन सेटेलाइट को GSLVF-08 रॉकेट के ज़रिए लॉन्च किया। इस सेटेलाइट की लाइफ 10 साल की होगी। इसरो ने कहा कि जीएसएटी -6 ए जीएसएटी -6 के समान था। इसरो के अध्यक् ने बताया कि जीएसएटी -6 ए को नेविगेशन उपग्रह के प्रक्षेपण के बाद अगले वित्त वर्ष में किया जाएगा। GSAT 6A का लॉन्च जीओसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च वाहन (जीएसएलवी-एफ 08)के जरिए किया गया।
सैटेलाइट की खासियतें
जीसैट-6ए का वजन 2,140 किलोग्राम है। इसमें प्रयोग हुआ रॉकेट 49.1 मीटर लंबा है और इसका वजन 415.6 टन है। लॉन्‍च होने के 17 मिनट बाद जीसैट-6ए कक्षा में पहुंच जाएगा। इस पूरे मिशन की कीमत 270 करोड़ रुपए है और यह मिशन 10 वर्षों के लिए है। इसरो की ओर से अब तक 95 स्‍पेसक्राफ्ट मिशन लॉन्‍च हो चुके हैं। इसरो ने जनवरी में ही अपना 100वां सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजा था और उस लॉन्‍च में भारत के इन 3 स्वदेशी उपग्रहों के अलावा कनाडा, फिनलैंड, फ्रांस, दक्षिण कोरिया, ब्रिटेन और अमेरिका के 28 सैटेलाइट भी लॉन्‍च किए गए थे।

 

जीसैट-6 ए के बाद एक नेविगेशन उपग्रह का प्रक्षेपण होगा

{ यह भी पढ़ें:- आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी की कांग्रेस में वापसी }

 यह उपग्रह विकसित प्रौद्योगिकियों के प्रदर्शन के लिए एक मंच प्रदान करेगा, जिसमें 6 एम एस-बैंड अनफ्लेरेबल एटीना, हैंडहेल्ड ग्राउंड टर्मिनल व नेटवर्क प्रबंधन प्रौद्योगिकी शामिल हैं. ये उपग्रह आधारित मोबाइल संचार अनुप्रयोगों में उपयोगी हैं. इसरो के चेयरमैन के सिवन ने कहा कि जीसैट-6 ए के बाद एक नेविगेशन उपग्रह का प्रक्षेपण किया जाएगा, जो अगले वित्तवर्ष में लॉन्‍च होगा.

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने गुरुवार को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में सतीश धवन स्पेस सेंटर से GSAT 6A  लॉन्च किया। इसरो ने गुरुवार शाम 4.56 बजे GSAT-6A कम्युनिकेशन सेटेलाइट को GSLVF-08 रॉकेट के ज़रिए लॉन्च किया। इस सेटेलाइट की लाइफ 10 साल की होगी। इसरो ने कहा कि जीएसएटी -6 ए जीएसएटी -6 के समान था। इसरो के अध्यक् ने बताया कि जीएसएटी -6 ए को नेविगेशन उपग्रह के प्रक्षेपण के बाद अगले वित्त वर्ष में…
Loading...