लखनऊ में आईएएस अ​रविन्द सिंह देव के आवास पर आयकर की छापेमारी, बड़ी नगदी और गोल्ड बरामद

आईएएस अ​रविन्द सिंह देव, आयकर की छापेमारी
लखनऊ में आईएएस अ​रविन्द सिंह देव के आवास पर आयकर की छापेमारी, बड़ी नगदी और गोल्ड बरामद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सीनियर आईएएस अरविन्द सिंह देव के ​सरकारी आवास 3 गौतमपल्ली पर बुधवार की शाम आयकर विभाग की टीम ने छापे को अंजाम दिया है। इस कार्रवाई में अरविन्द देव सिंह के आवास से 50 लाख रुपए की नगदी और तीन किलो सोना बरामद होने की जानकारी सामने आ रही है।

It Department Raids Ias Arvind Singh Devs Residence Big Amount Of Cash And Gold Recovered :

मिली जानकारी के मुताबिक यह छापेमारी आयकर विभाग दिल्ली से आए अधिकारियों ने लखनऊ की टीम के साथ संयुक्त कार्रवाई के तहत की गई है। अरविन्द सिंह देव के यहां छापेमारी के पीछे उनकी पत्नी का एक फर्जी कंपनी से जुड़ा होना बताया जा रहा है। अरविन्द सिंह देव की पत्नी फर्जी कंपनी में निदेशक है और लखनऊ के मोहनलालगंज इलाके में आयुष मेडिकल सेंटर नामक संस्था की संचालिका हैं।

ख़बर लिखे जाने तक जानकारी मिल है की आयकर विभाग की एक टीम मोहनलालगंज स्थित आयुष मेडिकल सेंटर में भी कार्रवाई को अंजाम दे रही है। इस छापेमारी को आयकर विभाग को दिल्ली में एक छापे के दौरान मिले साक्ष्यों के आधार पर अंजाम दिया गया है।

आपको बता दें कि अरविन्द सिंह देव की गिनती यूपी में दागी आईएएस अधिकारियों में होती हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सीनियर आईएएस अरविन्द सिंह देव के ​सरकारी आवास 3 गौतमपल्ली पर बुधवार की शाम आयकर विभाग की टीम ने छापे को अंजाम दिया है। इस कार्रवाई में अरविन्द देव सिंह के आवास से 50 लाख रुपए की नगदी और तीन किलो सोना बरामद होने की जानकारी सामने आ रही है।मिली जानकारी के मुताबिक यह छापेमारी आयकर विभाग दिल्ली से आए अधिकारियों ने लखनऊ की टीम के साथ संयुक्त कार्रवाई के तहत की गई है। अरविन्द सिंह देव के यहां छापेमारी के पीछे उनकी पत्नी का एक फर्जी कंपनी से जुड़ा होना बताया जा रहा है। अरविन्द सिंह देव की पत्नी फर्जी कंपनी में निदेशक है और लखनऊ के मोहनलालगंज इलाके में आयुष मेडिकल सेंटर नामक संस्था की संचालिका हैं।ख़बर लिखे जाने तक जानकारी मिल है की आयकर विभाग की एक टीम मोहनलालगंज स्थित आयुष मेडिकल सेंटर में भी कार्रवाई को अंजाम दे रही है। इस छापेमारी को आयकर विभाग को दिल्ली में एक छापे के दौरान मिले साक्ष्यों के आधार पर अंजाम दिया गया है।आपको बता दें कि अरविन्द सिंह देव की गिनती यूपी में दागी आईएएस अधिकारियों में होती हैं।