अब नहीं चोरी होंगे मोबाइल फोन्स, इस तकनीक से हाथ लगाते ही चोर को लगेगा जोर का ‘झटका’

अब नहीं चोरी होंगे मोबाइल फोन्स, इस तकनीक से हाथ लगाते ही चोर को लगेगा जोर का 'झटका'
अब नहीं चोरी होंगे मोबाइल फोन्स, इस तकनीक से हाथ लगाते ही चोर को लगेगा जोर का 'झटका'

नई दिल्ली। आपका यह स्मार्टफोन मात्र एक मोबाइल नहीं है तह आपकी जेब में छोटा सा बैंक है इसमें आपकी यादें हैं और तमाम जरूरी नोट्स भी। ऐसे में अगर आपका मोबाइल फोन चोरी हो जाता है तो आपकी परेशानी काफी बढ़ जाती है। ऐसे में सवाल यह आता है कि अपने मोबाइल फोन को चोरी होने से बचाएं कैसे? तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि जल्द ही एक ऐसी तकनीक आ रही है जो मोबाइल चोरी होने से पहले ही आपको सचेत और चोर का काम मुश्किल कर देगी।

It S Not Easy To Steal Mobile Phones From Pocket :

इस तकनीक के जरिए जैसे ही कोई आपके फोन को चुराने की कोशिश करेगा वैसे ही मोबाइल फोन तेजी से वाइब्रेट करेगा और आपको सचेत कर देगा। इससे न सिर्फ आप अपना मोबाइल फोन चोरी होने से बचा लेंगे, बल्कि आप अपनी निजी जानकारी और बैंक से जुड़ी अहम जानकारी भी सार्वजनिक होने से बचा सकेंगे। इस फीचर का नाम है एडेप्टिव फ्रिक्शन जिसे स्वीडिश फोन कंपनी एरिक्सन ने विकसित किया है और इसके पेटेंट की कोशिश चल रही है।

इस एप्लिकेशन के जरिए अनधिकृत उपयोगकर्ता (चोर) के पास डिवाइस को पकड़ना अधिक कठिन होगा। यह टेक्नोलॉजी बिल्ट इन सेंसर पर निर्भर करती है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि इसका उपयोग कैसे किया जा रहा है या उठाया गया है।

सेंसर से चोर का लगेगा पता

इसमें मोबाइल को चोरी से बचाने के लिए बायोमीट्रिक, फिंगरप्रिंट और पहचान के लिए ऑप्टिकल सेंसर लगाए गए हैं। यह सेंसर अलग-अलग मोड पर काम करेंगे। लो फ्रिक्शन मोड के जरिये दिल की धड़कनों से यह भी पता लगाया जा सकता है कि यह मोबाइल मालिक का है भी या नहीं। इसे कोई दूसरा तो उपयोग नहीं कर रहा है।

नई दिल्ली। आपका यह स्मार्टफोन मात्र एक मोबाइल नहीं है तह आपकी जेब में छोटा सा बैंक है इसमें आपकी यादें हैं और तमाम जरूरी नोट्स भी। ऐसे में अगर आपका मोबाइल फोन चोरी हो जाता है तो आपकी परेशानी काफी बढ़ जाती है। ऐसे में सवाल यह आता है कि अपने मोबाइल फोन को चोरी होने से बचाएं कैसे? तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि जल्द ही एक ऐसी तकनीक आ रही है जो मोबाइल चोरी होने से पहले ही आपको सचेत और चोर का काम मुश्किल कर देगी। इस तकनीक के जरिए जैसे ही कोई आपके फोन को चुराने की कोशिश करेगा वैसे ही मोबाइल फोन तेजी से वाइब्रेट करेगा और आपको सचेत कर देगा। इससे न सिर्फ आप अपना मोबाइल फोन चोरी होने से बचा लेंगे, बल्कि आप अपनी निजी जानकारी और बैंक से जुड़ी अहम जानकारी भी सार्वजनिक होने से बचा सकेंगे। इस फीचर का नाम है एडेप्टिव फ्रिक्शन जिसे स्वीडिश फोन कंपनी एरिक्सन ने विकसित किया है और इसके पेटेंट की कोशिश चल रही है। इस एप्लिकेशन के जरिए अनधिकृत उपयोगकर्ता (चोर) के पास डिवाइस को पकड़ना अधिक कठिन होगा। यह टेक्नोलॉजी बिल्ट इन सेंसर पर निर्भर करती है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि इसका उपयोग कैसे किया जा रहा है या उठाया गया है। सेंसर से चोर का लगेगा पता इसमें मोबाइल को चोरी से बचाने के लिए बायोमीट्रिक, फिंगरप्रिंट और पहचान के लिए ऑप्टिकल सेंसर लगाए गए हैं। यह सेंसर अलग-अलग मोड पर काम करेंगे। लो फ्रिक्शन मोड के जरिये दिल की धड़कनों से यह भी पता लगाया जा सकता है कि यह मोबाइल मालिक का है भी या नहीं। इसे कोई दूसरा तो उपयोग नहीं कर रहा है।