1. हिन्दी समाचार
  2. लड़की से परेशान आईटीआई छात्र ने खुद को गोली मारकर दी जान

लड़की से परेशान आईटीआई छात्र ने खुद को गोली मारकर दी जान

Iti Student Commits Suicide In Lucknow

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गाजीपुर इलाके में रहने वाले आईटीआई के एक छात्र ने पिता की लाइसेंसी राइफल से गोली मारकर जान दे दी। छात्र के पिता ने बेटे की एक परिचित युवती पर खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करायी है। युवती छात्र को किस तरह प्रताडि़त करती थी अभी इस बारे में पुलिस को कुछ पता नहीं चल सका है। पुलिस का कहना है कि छात्र के मोबाइल फोन की डीटेल खंगाली जा रही है। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त राइफल को अपने कब्जे में ले लिया है।

पढ़ें :- बिहार चुनाव: जेपी नड्डा ने विपक्ष पर बोला हमला, कहा-आरजेडी अराजकता पर विश्वास करती है

इलाहाबाद निवासी झल्लर प्रताप सिंह गाजीपुर की द्वारिका पुरी कालोनी में दो महीने से पत्नी संयोग्ता, बेटे आशुतोष, आर्यन व 19 वर्षीय हर्ष के साथ रहते हैं। वह सीएमएस गोमतीनगर में सुपरवाइजर हैं। उनका बेटा हर्ष सुलतानपुर रोड स्थित एसएमएस कालेज से आईटीआई कर रहा था। बताया जाता है कि सोमवार की सुबह झल्लर प्रताप सिंह अपनी ड्यूटी पर चले गये। घर पर आशुतोष, आर्यन व उनकी मां के अलावा हर्ष मौजूद था।

साढ़े 12 बजे के आसपास हर्ष अपने कमरे में गया और कमरे का दरवाजा बंदकर उसने आलमारी में रखी पिता की लाइसेंसी राइफल निकाली। इसके बाद उसने राइफल की नाल को ठुड्डी में लगाने के बाद पैर के अंगूठे से बंदूक का ट्रिगर दबाकर खुद को गोली मार ली। गोली चलने की आवाज सुन परिवार के लोग सन्न रह गये। वह लोग दौड़कर हर्ष के कमरे पहुंचे तो कमरे का दरवाजा बंद मिला। खिड़की से झांककर देखा तो हर्ष खून से लथपथ बेड़ पर पड़ा था।

उसके दोनों पैरों के बीच में राइफल पड़ी थी। बड़े भाई आशुतोष ने इसकी जानकारी पिता को दी। झल्लर प्रताप सिंह आफिस से घर पहुंचे तो मोहल्ले वालों का वहां जमावड़ा लगा था। उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर गाजीपुर पुलिस भी पहुंच गयी।

पुलिस ने परिवार वालों की मदद से कमरे का दरवाजा तोड़ा और अंदर पहुंची। पुलिस को कमरे में हर्ष का खून से लथपथ शव और झल्लर प्रताप सिंह की लाइसेंसी राइफल मिली। छानबीन के बाद पुलिस ने हर्ष के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और राइफल को कब्जे में ले लिया। हर्ष के पिता झल्लर प्रताप सिंह ने गाजीपु र पुलिस को बताया कि उनकी बेटे की अर्शा तहसीन नाम की एक युवती से दोस्ती थी।

पढ़ें :- IPL 2020: नितीश राणा ने अर्धस्तक के बाद आखिर क्यों दिखाई अलग नाम की जर्सी, जानकर आंख हो जायेगी नम

युवती हर्ष को काफी परेशान करती थी। पिता का आरोप है कि युवती के उकसाने पर हर्ष ने जान दी है। पुलिस ने मृतक के पिता की तहरीर पर युवती के खिलाफ 306 आईपीसी के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली है। इंस्पेक्टर गाजीपुर का कहना है कि अभी तक युवती के बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं चल सका है। पुलिस हर्ष के मोबाइल फोन की डीटेल खंगाले के साथ नामजद युवती के बारे में भी पता लगा रही है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...