कलाकारों को रूप-रंग के आधार पर आंकना मानवीय प्रवृत्ति : सनी लियोन

मुम्बई| जिस्म 2 से बॉलीवुड में कदम रखने वाली अभिनेत्री सनी लियोन का कहना है कि भले ही कलाकार कितने ही अच्छे लगें, उन्हें हमेशा ही उनके फैशन के तर्ज पर आंका जाता है। सनी ने कहा कि लोगों को उनके रूप-रंग के आधार पर आंकना मानवीय प्रवृत्ति है।

अभिनेत्री से जब पूछा गया कि क्या उन्हें ऐसा लगता है कि कलाकारों को उनके फैशन के आधार पर आंका जाता है? इसकी प्रतिक्रिया में उन्होंने बताया, “हां, यह मानवीय प्रवृत्ति है। हम सब आंकते हैं और हम सब यहीं देखते हैं कि दूसरे व्यक्ति ने क्या पहना है? मैं हमेशा इस बात को जानने में रुचि रखती हूं कि लोगों को फैशन में क्या भाता है।”

‘एक पहेली लीला’ की कलाकार के लिए फैशन बहुत महत्वपूर्ण है। सनी ने कहा, “मेरे लिए अपने दिन की शुरुआत के अहसास को दर्शाना काफी महत्वपूर्ण है। मैं यह नहीं कह रही हूं कि आप दूसरों को देखकर उनकी तरह बनो। यह एक बहुत बड़ा बयान है।” एक कलाकार के लिए हमेशा अच्छे दिखने की जरूरत पर पूछे गए सवाल के जवाब में सनी ने कहा, “हां, क्योंकि पूरी दुनिया इसलिए आपको देख रही है और इसका यही मतलब है कि आप अपने आपको दर्शा रहे हैं।”

सनी ने हालांकि, यह भी कहा कि इसका मतलब यह नहीं कि आप मंहगे कपड़े पहनना शुरू कर दें। सनी को जल्द ही उनकी आगामी फिल्म ‘बेईमान लव’ में देखा जाएगा।