जगन मोहन रेड्डी के मंत्रिमंडल में होंगे 5 डिप्टी सीएम, ऐसा करने वाला पहला राज्य होगा आंध्र प्रदेश

jagan
जगन मोहन रेड्डी के मंत्रिमंडल में होंगे 5 डिप्टी सीएम, ऐसा करने वाला पहला राज्य होगा आंध्र प्रदेश

अमरावती। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने अपने मंत्रिमंडल को लेकर बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने कहा है कि उनके मंत्रिमंडल में एक नहीं पांच समुदाय के पांच डिप्टी सीएम होंगे। अभी तक देश में किसी भी राज्य में ऐसा नहीं हुआ था। रेड्डी के मंत्रिमंडल में अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और कापू समुदाय से एक-एक डिप्टी सीएम होंगे। उन्होंने शुक्रवार को पार्टी विधायकों की बैठक के बाद यह ऐलान किया।

Jagan Mohan Reddys Cabinet Will Have 5 Deputy Cms Andhra Pradesh Will Be The First State To Do So :

मुख्यमंत्री के कैंप ऑफिस में सभी नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक हुई। बैठक को संबोधित करते हुए जगन ने कहा कि वह नए मंत्रियों को लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए लेंगे। उन्होंने जानकारी दी कि 25 सदस्यों के मंत्रिमंडल का शपथग्रहण शनिवार को होगा। रेड्डी के इस फैसले के बाद पार्टी के विधायक एमएम शैक ने खुशी जताई है। उन्होंने भरोसा जताया है कि जगन भारत में अब तक के सर्वश्रेष्ठ सीएम साबित होंगे।

सीएम जगनमोहन रेड्डी ने अपने विधायकों को यह भी बताया कि कैबिनेट में मुख्य रूप से कमजोर वर्गों के सदस्य होंगे जबकि अपेक्षा यह की जा रही थी कि रेड्डी समुदाय को मंत्रिमंडल में मुख्य स्थान मिलेगा। रेड्डी ने बताया कि ढाई साल बाद सरकार के प्रदर्शन की समीक्षा के पश्चात फिर से मंत्रिमंडल में फेरबदल किया जाएगा। वहीं इससे पहले चंद्रबाबू नायडू की सरकार में कापू और पिछड़ा समुदायों का एक एक डिप्टी सीएम बनाया गया था।

जगन के इस फैसले को एक क्रांतिकारी कदम माना जा रहा है जिसका मकसद इन समुदायों को साधे रखना है। वाई एस जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी बीते महीने भारी जीत के साथ सत्ता में आई। पार्टी ने 175 सदस्यीय विधानसभा में 151 सीटें जीती। इसके साथ ही 25 लोकसभा सीटों में से 22 सीटें जीती है।

अमरावती। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने अपने मंत्रिमंडल को लेकर बड़ा फैसला लिया है। उन्होंने कहा है कि उनके मंत्रिमंडल में एक नहीं पांच समुदाय के पांच डिप्टी सीएम होंगे। अभी तक देश में किसी भी राज्य में ऐसा नहीं हुआ था। रेड्डी के मंत्रिमंडल में अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और कापू समुदाय से एक-एक डिप्टी सीएम होंगे। उन्होंने शुक्रवार को पार्टी विधायकों की बैठक के बाद यह ऐलान किया। मुख्यमंत्री के कैंप ऑफिस में सभी नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक हुई। बैठक को संबोधित करते हुए जगन ने कहा कि वह नए मंत्रियों को लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए लेंगे। उन्होंने जानकारी दी कि 25 सदस्यों के मंत्रिमंडल का शपथग्रहण शनिवार को होगा। रेड्डी के इस फैसले के बाद पार्टी के विधायक एमएम शैक ने खुशी जताई है। उन्होंने भरोसा जताया है कि जगन भारत में अब तक के सर्वश्रेष्ठ सीएम साबित होंगे। सीएम जगनमोहन रेड्डी ने अपने विधायकों को यह भी बताया कि कैबिनेट में मुख्य रूप से कमजोर वर्गों के सदस्य होंगे जबकि अपेक्षा यह की जा रही थी कि रेड्डी समुदाय को मंत्रिमंडल में मुख्य स्थान मिलेगा। रेड्डी ने बताया कि ढाई साल बाद सरकार के प्रदर्शन की समीक्षा के पश्चात फिर से मंत्रिमंडल में फेरबदल किया जाएगा। वहीं इससे पहले चंद्रबाबू नायडू की सरकार में कापू और पिछड़ा समुदायों का एक एक डिप्टी सीएम बनाया गया था। जगन के इस फैसले को एक क्रांतिकारी कदम माना जा रहा है जिसका मकसद इन समुदायों को साधे रखना है। वाई एस जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस पार्टी बीते महीने भारी जीत के साथ सत्ता में आई। पार्टी ने 175 सदस्यीय विधानसभा में 151 सीटें जीती। इसके साथ ही 25 लोकसभा सीटों में से 22 सीटें जीती है।