जन्मदिवस विशेष: गजल के शौकीनों ने हर रोज किया जगजीत सिंह को याद

जन्मदिवस विशेष: गजल के शौकीनों ने हर रोज किया जगजीत सिंह को याद
जन्मदिवस विशेष: गजल के शौकीनों ने हर रोज किया जगजीत सिंह को याद
नई दिल्ली। ग़ज़ल के सम्राट जगजीत सिंह का आज 77वां जन्मदिवस है। जगजीत सिंह को इस दुनिया से गए हुए (10 अक्टूबर 2011) 7 साल हो गए। चित्रा सिंह ने अपने ग़ज़लकार पति के लिए भारत रत्न की मांग करते हुए कहा था कि 'मेरे ख्याल से वह भारत रत्न के हकदार हैं, इससे कम के नहीं। देश को उनका ऋण जरूर चुकाना चाहिए!' आज भले जगजीत हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनकी जादुई आवाज़ आज भी हमारे बीच है…

नई दिल्ली। ग़ज़ल के सम्राट जगजीत सिंह का आज 77वां जन्मदिवस है। जगजीत सिंह को इस दुनिया से गए हुए (10 अक्टूबर 2011) 7 साल हो गए। चित्रा सिंह ने अपने ग़ज़लकार पति के लिए भारत रत्न की मांग करते हुए कहा था कि ‘मेरे ख्याल से वह भारत रत्न के हकदार हैं, इससे कम के नहीं। देश को उनका ऋण जरूर चुकाना चाहिए!’ आज भले जगजीत हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन उनकी जादुई आवाज़ आज भी हमारे बीच है और सभी उनकी गजल के दीवाने है।

जगजीत सिंह के वो मशहूर गाने जो सबकी प्लेलिस्ट में होते हैं—-

{ यह भी पढ़ें:- टड़वा परसिया सिवान बिहार में महायज्ञ में शामिल होंगे खेसारीलाल यादव }

  • वो कागज की कश्ती
  • चिट्ठी न कोई संदेश
  • तुमको देखा तो ये ख्याल आया
  • होश वालों को खबर क्या
  • होठों से छू लो तुम
  • ये दौलत भी ले लो
  • चिठ्ठी न कोई संदेश

ऐसे रूहानी आवाज़ के मालिक जगजीत सिंह का जन्म 8 फरवरी, 1941 को राजस्थान के श्रीगंगानगर में हुआ था। उनका परिवार मूल रूप से पंजाब के रोपड़ जिले से था। जगजीत की शुरुआती शिक्षा गंगानगर में हुई और बाद में उन्होंने जालंधर में पढ़ाई की। पिता सरदार अमर सिंह धमानी एक सरकारी कर्मचारी थे। जगजीत सिंह को संगीत उनके पिता से ही विरासत में मिला। वह 1965 में मुंबई आ गए थे। 1967 में उनकी मुलाकात ग़ज़ल गायिका चित्रा से हुई। इसके दो साल बाद 1969 में दोनों विवाह बंधन में बंध गए।

Loading...