1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. विकास दुबे के करीबी जय बाजपेयी पर कसेगा शिकंजा, पासपोर्ट और असहला लाइसेंस हो सकता है निरस्त

विकास दुबे के करीबी जय बाजपेयी पर कसेगा शिकंजा, पासपोर्ट और असहला लाइसेंस हो सकता है निरस्त

By शिव मौर्या 
Updated Date

कानपुर। ​कानपुर केस के मुख्य आरोपी विकास दुबे के करीबी जय बाजपेयी पर शिकंजा कसता जा रहा है। जांच पड़ताल में सामने आया है कि विकास दुबे के रुपयों का लेखा जोखा जय ही रखता था। लिहाजा, अब जय पर पुलिस और आयकर विभाग का शिकंजा कसता जा रहा है।

वहीं, अब पुलिस जय के पासपोर्ट और असहला लाइसेंस निरस्त करा सकती है। एक पुरानी जांच में जय के खिलाफ आरोप सही पाए गए हैं। यह फाइल अब भी एसएसपी कार्यालय में अटकी हुई है। इसे निकलवाकर कार्रवाई की तैयारी है। जांच में जय के पासपोर्ट और असलहा लाइसेंस पर भी सवाल उठाए गए हैं।

बता दें कि, ब्रह्मनगर निवासी एडवोकेट सौरभ भदौरिया ने 2017-18 में कानपुर के तत्कालीन आईजी आलोक सिंह से शिकायत की थी कि जय, उसके भाई रजय और कुछ अन्य के पास आय से ज्यादा संपत्ति है। आरोप था कि आपराधिक केस होने के बाद भी इनके पास पासपोर्ट और हथियार के लाइसेंस हैं। वहीं, इसकी जांच कन्नौज के तत्कालीन एएसपी केसी गोस्वामी को दी गई थी।

गोस्वामी ने जांच में सभी आरोप सही पाए थे। जय और उसकी मां समेत परिवार के अन्य लोगों के भी बयान लिए गए थे। रिपोर्ट आगे बढ़ी लेकिन कानपुर एसएसपी कार्यालय में अटक गई। अब इस रिपोर्ट को पुलिस दूसरे विभागों को भेजने की तैयारी कर रही है। ईओडब्ल्यू के एएसपी केसी गोस्वामी का कहना है कि जांच रिपोर्ट कानपुर एसएसपी कार्यालय को भेजी गई थी।

सूत्रों की माने तो अब आयकर विभाग जय बाजपेयी पर शिकंजा कसेगा। उसकी संपत्ति की जांच करेगा। सूत्रों की माने तो जय ने विदेशों में भी काफी संपत्ति बनाई है। आयकर विभाग की एक टीम इस बात की जांच कर रही है विदेशों में खरीदी गई संपत्तियों का पैसा हवाला कारोबार से तो ट्रांसफर नहीं किया गया है। अभी तक जय बाजपेई के बैंक खातों से इस बात के प्रमाण नहीं मिले हैं की पैसे को विदेशों में भेजा गया हो। अधिकारियों को संदेह है की विदेशों में पैसा खपाने के लिए हवाला रैकेट का इस्तेमाल किया गया है।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...