बीजेपी कार्यकर्ताओं ने लगाये ‘जय श्री राम’ के नारे, ममता बनर्जी ने दी चेतावनी

mamta
ममता के सामने बीजेपी कार्यकर्ताओं ने लगाये 'जय श्री राम' के नारे, ममता ने दी चेतावानी

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पांचवे चरण के लिए प्रचार थम चुका है। छठे और सातवें चरण के लिए पार्टियों ने अपनी ताकत झोंक दी है। पश्चिम बंगाल में प्रचार के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ममता बनर्जी के सामने ‘जय श्री राम’ के नारे लगा दिये। इस पर ममता भड़क गईं और अपने काफिले से उतर गयीं।

Jai Shri Rams Slogans Placed By Bjp Workers In Front Of Mamta Banerjee :

यह देख वहां से बीजेपी के कार्यकर्ता भाग खड़े हुए। वहीं ममता बनर्जी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर गाली देने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी पुरुषों को गलत व्यवहार करने के लिए भेजकर उनकी छवि खराब कर रही है। पश्चिम बंगाल मिदनापुर तृणमूल कांग्रेस का गढ़ माना जाता है। यहां से शुभेंदु अधिकारी टीएमसी के मंत्री जबकि उनके पिता शिशिर अधिकारी और भाई दिब्येंदु अधिकारी सांसद रह चुके हैं।

बताया जा रहा है कि इस इलाके से जब ममता गुजरीं तब उनके काफिले के समाने बीजेपी कार्यकर्ता नारे लगाना शुरू कर दिये। इस पर ममता अपनी गाड़ी से उतरी और बाहर निकल गयीं। यह देख वहां से बीजेपी कार्यकर्ता भाग निकले। बताया जा रहा कि इस पर ममता बनर्जी ने उन्हें चेतावनी देते हुए कहा कि 23 मई को चुनाव के नतीजे आने के बाद अंजाम भुगतना पड़ेगा।

ममता ने चेतावनी देते हुए कहा कि चुनाव के बाद भी उन्हें यहीं रहना है। बता दें कि चक्रवाती तूफान फानी को देखते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दो दिन के लिए अपने सभी चुनावी कार्यक्रम को स्थगित कर दिया था। ममता का आरोप है कि बंगाल मं बीजेपी बांटने की राजनीति​ कर रही हैं। लोगों को दंगों के लिए उकसा रहीं हैं। ममता ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बीजेपी की ऐसी राजनीति को नाकाम करते हुए सभी 42 सीटों पर तृणमूल कांग्रेस जिताएं।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पांचवे चरण के लिए प्रचार थम चुका है। छठे और सातवें चरण के लिए पार्टियों ने अपनी ताकत झोंक दी है। पश्चिम बंगाल में प्रचार के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ममता बनर्जी के सामने 'जय श्री राम' के नारे लगा दिये। इस पर ममता भड़क गईं और अपने काफिले से उतर गयीं। यह देख वहां से बीजेपी के कार्यकर्ता भाग खड़े हुए। वहीं ममता बनर्जी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर गाली देने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी पुरुषों को गलत व्यवहार करने के लिए भेजकर उनकी छवि खराब कर रही है। पश्चिम बंगाल मिदनापुर तृणमूल कांग्रेस का गढ़ माना जाता है। यहां से शुभेंदु अधिकारी टीएमसी के मंत्री जबकि उनके पिता शिशिर अधिकारी और भाई दिब्येंदु अधिकारी सांसद रह चुके हैं। बताया जा रहा है कि इस इलाके से जब ममता गुजरीं तब उनके काफिले के समाने बीजेपी कार्यकर्ता नारे लगाना शुरू कर दिये। इस पर ममता अपनी गाड़ी से उतरी और बाहर निकल गयीं। यह देख वहां से बीजेपी कार्यकर्ता भाग निकले। बताया जा रहा कि इस पर ममता बनर्जी ने उन्हें चेतावनी देते हुए कहा कि 23 मई को चुनाव के नतीजे आने के बाद अंजाम भुगतना पड़ेगा। ममता ने चेतावनी देते हुए कहा कि चुनाव के बाद भी उन्हें यहीं रहना है। बता दें कि चक्रवाती तूफान फानी को देखते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दो दिन के लिए अपने सभी चुनावी कार्यक्रम को स्थगित कर दिया था। ममता का आरोप है कि बंगाल मं बीजेपी बांटने की राजनीति​ कर रही हैं। लोगों को दंगों के लिए उकसा रहीं हैं। ममता ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बीजेपी की ऐसी राजनीति को नाकाम करते हुए सभी 42 सीटों पर तृणमूल कांग्रेस जिताएं।