सारा हत्याकांड: जेल मंत्री की नसीहत, तीन महीने शांत रहें सारा की मां

लखनऊ। बहुचर्चित सारा हत्याकांड मामले में सारा की मां सीमा सिंह अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए आज भी दर-दर की ठोकर खा रही हैं। कहीं ना कहीं आने वाले चुनावों को देखते हुए सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी को इस बात का डर सताने लगा है कि आगामी चुनाव में यह सरकार के लिए खतरा ना बन जाए। इसी को देखते हुए सोमवार को यूपी के जेल मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया सीमा सिंह से मिलने उनके घर पहुंचे। उनके घर में मुलाकात के दौरान रामूवालिया ने सीमा सिंह से चुनाव बीत जाने की बात कहकर नसीहत दे डाली और कहा कि तीन महीने आप शांत रहिये।




सीमा सिंह का आरोप है कि जेल मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया न जाने किसके इशारे पर यह काम कार रहे हैं, क्या उन्हे मुलायम सिंह यादव या शिवपाल ने भेजा था या अमनमणि के कहने पर वो मुझे चुप रहने को बोल रहे है। सारा की मां का कहना है कि मुझे पहले लगा की रामूवालिया जी सारा की मौत को लेकर काफी भावुक हैं, लेकिन जब उन्होंने राजनैतिक बात की तो उनके इरादे साफ हो गए।

Jail Minister Balwant Singh Ramu Walia Meets Sara Mother :

सीमा ने बताया कि मंत्री जी को ये बात नहीं करनी चाहिए थी कि आप तीन महीने के लिए चुप बैठ जाइये।




क्‍या है मामला

मधुमिता शुक्ला मर्डर केस में उम्रकैद की सजा काट रहे पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी की बहू सारा सिंह की 9 जुलाई 2015 को अमनमणि के साथ लखनऊ से दिल्ली जाते समय सिरसागंज में कार हादसे में मौत हो गई थी। सारा की मां सीमा सिंह और परिवार के अन्‍य लोगों का आरोप है कि अमरमणि और अमनमणि ने सारा की हत्‍या की है।

गोरखपुर के रहने वाले अमनमणि ने अपने घरवालों की मर्जी के खिलाफ जुलाई 2013 में लखनऊ की रहने वाली सारा से आर्य समाज मंदिर में शादी की थी। सीबीआई ने सारा सिंह की संदिग्‍ध मौत मामले में अमनमणि को 25 नवंबर को गिरफ्तार किया था। फिलहाल अमनमणि गाजियाबाद की डासना जेल में न्‍यायिक हिरासत में है।

लखनऊ। बहुचर्चित सारा हत्याकांड मामले में सारा की मां सीमा सिंह अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए आज भी दर-दर की ठोकर खा रही हैं। कहीं ना कहीं आने वाले चुनावों को देखते हुए सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी को इस बात का डर सताने लगा है कि आगामी चुनाव में यह सरकार के लिए खतरा ना बन जाए। इसी को देखते हुए सोमवार को यूपी के जेल मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया सीमा सिंह से मिलने उनके घर पहुंचे। उनके घर में मुलाकात के दौरान रामूवालिया ने सीमा सिंह से चुनाव बीत जाने की बात कहकर नसीहत दे डाली और कहा कि तीन महीने आप शांत रहिये। सीमा सिंह का आरोप है कि जेल मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया न जाने किसके इशारे पर यह काम कार रहे हैं, क्या उन्हे मुलायम सिंह यादव या शिवपाल ने भेजा था या अमनमणि के कहने पर वो मुझे चुप रहने को बोल रहे है। सारा की मां का कहना है कि मुझे पहले लगा की रामूवालिया जी सारा की मौत को लेकर काफी भावुक हैं, लेकिन जब उन्होंने राजनैतिक बात की तो उनके इरादे साफ हो गए।सीमा ने बताया कि मंत्री जी को ये बात नहीं करनी चाहिए थी कि आप तीन महीने के लिए चुप बैठ जाइये। क्‍या है मामलामधुमिता शुक्ला मर्डर केस में उम्रकैद की सजा काट रहे पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी की बहू सारा सिंह की 9 जुलाई 2015 को अमनमणि के साथ लखनऊ से दिल्ली जाते समय सिरसागंज में कार हादसे में मौत हो गई थी। सारा की मां सीमा सिंह और परिवार के अन्‍य लोगों का आरोप है कि अमरमणि और अमनमणि ने सारा की हत्‍या की है।गोरखपुर के रहने वाले अमनमणि ने अपने घरवालों की मर्जी के खिलाफ जुलाई 2013 में लखनऊ की रहने वाली सारा से आर्य समाज मंदिर में शादी की थी। सीबीआई ने सारा सिंह की संदिग्‍ध मौत मामले में अमनमणि को 25 नवंबर को गिरफ्तार किया था। फिलहाल अमनमणि गाजियाबाद की डासना जेल में न्‍यायिक हिरासत में है।