भर्ती घोटाला: SIT के सामने पेश हुए आजम बोले, ‘मुझे भी चोरों की लाइन में खड़ा कर दिया’

भर्ती घोटाला: SIT के सामने पेश हुए आजम बोले, 'मुझे भी चोरों की लाइन में खड़ा कर दिया'
भर्ती घोटाला: SIT के सामने पेश हुए आजम बोले, 'मुझे भी चोरों की लाइन में खड़ा कर दिया'

लखनऊ। उत्तर प्रदेश जल निगम भर्ती घोटाला मामले में पूर्व मंत्री आजम खान स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम(एसआईटी) के सामने पेश हुए। इस दौरान उनसे पुलिस ने करीब तीन घंटे पूछताछ की। तत्कालीन सपा सरकार में नगर विकास मंत्री रहे आजम खान पर पैसे लेकर इंजीनियरों को नौकरी देने का आरोप है। आजम खान के साथ ही एसआईटी ने नगर विकास विभाग में सचिव रहे एसके सिंह से भी पूछताछ की। वहीं आजम खान ने अपने बयान में कहा, जल निगम विभाग ने ये भर्तियां की थी और मेरा इससे कोई वास्ता नहीं है।

प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार में आज़म खान सबसे ताकतवर मंत्री थे। आरोप है कि उन्होने नगर विकास विभाग में तेरह सौ भर्तियों में गड़बड़ी करते भर्ती प्रक्रिया को अंजाम दिया। शिकायतें मिलने के बाद योगी सरकार ने इसकी जांच के आदेश दे दिए थे। पूछताछ के बाद एसआईटी ऑफिस से बाहर निकलते हुए आजम खान ने कहा, “इस सरकार ने तो मुझे चोरों की लाइन में ला कर खड़ा कर दिया है इसके लिए मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं।”

{ यह भी पढ़ें:- पूर्व मंत्री आजम खान और उनके बेटे को जान से मारने की धमकी }

बता दें कि जल निगम में हुई 1300 भर्तियों में कथित घोटाले की जांच एसआईटी कर रही है। एसआईटी ने आजम खान के बयान दर्ज कराने के लिए समन भेजा था और उन्हें 22 जनवरी का समय दिया था। इस मामले में एसआईटी जल निगम के एमडी रहे पीके आशुदानी, आजम खान के निजी सचिव रहे सैयद अफाक अहमद और विभाग के तत्कालीन सचिव एसपी सिंह समेत 9 लोगों से पहले ही पूछताछ कर चुकी है।

इस मामले में अब तक सौ से ज्यादा असिस्टेंट इंजीनियरों को योगी सरकार बर्खास्त कर चुकी है। वहीं अब तक 8 बड़े अफसरों के बयान भी एसआईटी दर्ज कर चुकी है।

{ यह भी पढ़ें:- जल निगम भर्ती घोटाला: एसआईटी ने आजम खां को भेजा नोटिस }

Loading...