रेप आरोपित की हिरासत से फरारी ने जेपी यादव को मुश्किल में डाला

जालौन। सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक को गैर जनपद स्थानांतरण के लिए कार्यमुक्त कर दिया गया है। सदर कोतवाली के ही वरिष्ठ उपनिरीक्षक सुनील कुमार तिवारी को पुलिस अधीक्षक ने फिलहाल प्रभारी निरीक्षक का दायित्व सौंपा है।





सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक जेपी यादव का तबादला कानपुर महानगर के लिए हो गया था। इसी बीच उनके कार्यकाल में कोतवाली से रेप के एक मुल्जिम के भागने का कांड हो गया। इस कांड की आंच में एसपी ने एक दरोगा, एक कांस्टेबिल और चार सिपाहियों को नाप दिया। जेपी यादव भी इसकी चपेट में आने की आशंका से पीड़ित हो गये थे इसलिए उन्होनें जनपद से तत्काल सकुशल विदाई कराने में ही खैरियत समझी। नतीजतन जेपी यादव ने एसपी के पास पैरोकारी कराकर आज अपने को कार्यमुक्त करा लिया।

पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने फिलहाल कोतवाली में किसी स्थाई प्रभारी निरीक्षक को नियुक्त नही किया है। तदर्थ व्यवस्था के तौर पर एसएसआई सुनील कुमार तिवारी से उन्होंने कोतवाली का संचालन करने को कह दिया है।

जालौन से सौरभ पाण्डेय की रिपोर्ट