मांगों को लेकर 19 वें दिन भी हड़ताल पर रहे अभियंता

जालौन। उत्तर प्रदेश डिप्लोमाा इंजीनियर्स महासंघ के प्रांतीय नेतृत्व के आवाहन पर महासंघ की चौदह सूत्रीय मांगों के समर्थन में अनिश्चित कालीन हड़ताल के 19 वें दिन भी डिप्लोमा इंजीनियर्स लोक निर्माण विभाग परिसर में जुटे रहे।

संघर्ष समिति के चेयरमेन बीरसिंह यादव ने कहा कि प्रदेश के समस्त जूनियर इंजीनियर्स चैदह सूत्रीय मांगों को लेकर तब तक हड़ताल पर रहेगे जब तक सरकार शासनादेश जारी नही कर देती। प्रोन्नत सहायक अभियंता इंजी. हरिलाल ने सदस्यों से कहा कि आप किसी बहकावे में न आए और पूर्ण मनोयोग से संगठित होकर हड़ताल को सफल बनाए। क्षेत्रीय संगठन सचिव इंजी. सतीश शर्मा ने बताया कि सरकार के विकास कार्य की रीढ़ कहे जाने वाले अवर अभियंताओं की सुध नही ले रही है। जबकि स्थानीय जनप्रतिनिधियों सांसद भानु प्रताप वर्मा एवं विधायक संतराम कुशवाहा ने जूनियर इंजीनियर्स की मांगों को जायज ठहराते हुए ज्ञापन के माध्यम से 4800 ग्रेड पे को देने के लिए मुख्यमंत्री से सिफारिस भी की है।




क्षेत्रीय उपाध्यक्ष इंजी. शफीउल्ला ने कहा कि अब वक्त आ गया है आरपार की लड़ाई लड़ी जाएगी जब तक मांगे पूरी नही होती हड़ताल वापस नही ली जाएगी। उत्तर प्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर लोक निर्माण विभाग के जनपद अध्यक्ष इंजी. देवीदयाल ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मांगों की सहमति बनने के उपरांत एवं बार-बार आश्वासन देने के बाद भी शासनादेश जारी नही किया गया जिस कारण प्रदेश भर के 24 हजार जूनियर इंजीनियर हड़ताल के लिए विवश है। हड़ताल में इंजी. भगवती प्रसाद, इंजी. आरके द्विवेदी, इंजी. शत्रुघन सिंह, इंजी. मनोज श्रीवास्तव, इंजी. सुनील कटियार, इंजी. कमलेश बाबू, इंजी. धर्मेन्द्र कुमार, इंजी. संतोष कुमार, इंजी. रामदास, इंजी. आनंद नारायण, इंजी. कमलेश बाबू, इंजी. राघवेन्द्र, इंजी. दिलीप कुमार राजौरिया, इंजी. जगदीश, इंजी. सौरभ, इंजी. इंदल सिंह यादव, आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन प्रशांत सक्सेना द्वारा किया गया।

जालौन से सौरभ पांडेय की रिपोर्ट