आंगनबाड़ी केंद्रों का डीपीओ, सीडीपीओ ने किया निरीक्षण

कदौरा । कुपोषित नौनिहालों व गर्भवती महिलाओं को लाभ पहुंचाने की मंशा से जिले में संचालित हौसला पोषणा योजना की जमीनी सच्चाई से रूबरू होने की मंशा से प्रभारी डीपीओ ने कदौरा परियोजना के आंगनबाड़ी केंद्रों का औचक निरीक्षण किया इस दौरान परियोजना की सीडीपीओ अंकिता वर्मा भी साथ में रही।

आंगनबाड़ी केंद्रों के औचक निरीक्षण के दौरान ग्राम आटा, संदी, छौंक, उसरगांव, जोल्हूपुर व बरखेरा सहित अनेकों केंद्रों पर पहुंचकर हौसला पोषण योजना के संचालन के बारे में विस्तृत जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान प्रभारी डीपीओ कमलेश मौर्य ने जिन आंगनबाड़ी केंद्रों पर गर्भवती महिलायें व नौनिहाल कम संख्या में मिले उन कार्यकत्रियों को चेतावनी दी कि वह रजिस्टर में अंकित नौनिहालों व गर्भवती महिलाओं को नियमानुसार पौष्टिक आहार का वितरण करें ताकि क्षेत्र में कुपोषित बच्चों को कुपोषण से बाहर निकाल जा सके।




उन्होंने कहा कि इसके लिये जिला अस्पताल में एक बार्ड आरक्षित है जहां कुपोषित बच्चों को उपचार के लिये भर्ती कराया जा सकता है। उन्होंने यह भी बताया कि ऐसे कुपोषित बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराने के लिये उनके साथ अभिभावक का रहना जरूरी रहता है लिहाजा जिन अभिभावकों के बच्चे कुपोषित हैं वह आंगनबाड़ी कार्यकत्री से संपर्क कर अपने नौनिहालों का उपचार कराना सुनिश्चित करें ताकि वह भी उपचार के बाद स्वस्थ्य बच्चों की तरह खेलकूंद सके।

प्रभारी डीपीओ व सीडीपीओ के द्वारा जिस तरह से आंगनबाड़ी केंद्रों के औचक निरीक्षण की जानकारी कार्यकत्रियों को पता चली तो वह अपने-अपने केंद्रों पर नौनिहालों व गर्भवती महिलाओं को तब तक रोके रही जब तक की विभागीय अधिकारियों ने उनके केंद्र का निरीक्षण नहीं कर लिया।

जालौन से सौरभ पांडेय की रिपोर्ट

Loading...