संघर्ष से पीछे न हटने का संकल्प लिया डिप्लोमा इंजीनियर्स ने

जालौन । उत्तर प्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ के प्रांतीय आवाहन पर अनिश्चित कालीन हड़ताल के 21 वंे दिन भी इंजी. आरसी पस्तोर की अध्यक्षता में जनपद के सभी चौबीस घटकों के जूनियर इंजीनियर लोक निर्माण विभाग के प्रांगण में हड़ताल के लिए एकजुट रहे। शासन के द्वारा गठित समिति के उपरांत प्रारंभिक ग्रेड पे 4800 रुपये का शासनादेश जारी न हो पाने के कारण सभी जूनियर इंजीनियर प्रदेश व्यापी हड़ताल कर रहे है।



जनपद सचिव इंजी. प्रशांत सक्सेना ने बताया कि उत्तर प्रदेश इंजीनियर महासंघ की वृहद कार्यकारणी सभा द्वारा निर्णय लिया गया कि समस्त प्रोन्नत साथी सहायक अभियंता भी 21 अक्टूबर से हड़ताल में भागीदारी करेंगे और साथ ही नवनियुक्त डिप्लोमा इंजीनियर्स भी हड़ताल में शामिल रहेगे। जनपद अध्यक्ष आरसी पस्तोर ने बताया कि डिप्लोमा इंजीनियर की हड़ताल से पूरे प्रदेश में निर्माण कार्य ठप पड़े है लेकिन सरकार के कानों में जू तक नही रेंग रही है अगर सरकार का यही हाल रहा तो जल्द ही विकास का चक्का इसी प्रकार जाम रहेगा और जब तक डिप्लोमा इंजीनियर को 4800 रुपये ग्रेड पे. की मांग पूरी नही होती तब तक संघर्ष करते रहेंगे।

इंजी. बीरसिंह ने सभी क्रांतिकारी साथियों से अपील की कि हड़ताल पूर्ण मनोयोग से करे क्योंकि अब अगर हड़ताल शत प्रतिशत सफल नही हुई तो सर्विस ब्रेक एवं सैलरी नुकसान निश्चित है अब पीछे नही हटा जा सकता है। अतः हम सब मिलकर अपने घोषित उद्देश्य और जायज मांगों को पूरा करने हेतु हड़ताल को शत प्रतिशत सफल बनाए। हड़ताल में सेतु निगम से इंजी. धीरेन्द्र कुमार, इंजी. द्वारिका प्रसाद, सिंचाई विभाग से इंजी. विजय बहादुर, इंजी. प्रीतम सिंह कुशवाहा, इंजी. राजेन्द्र यादव, इंजी. कृष्ण बीर सिंह, इंजी. रामकुमार, नलकून विभाग से इंजी. प्रताप नारायण, इंजी. खुशीराम, जल निगम से इंजी. शत्रुघन सिंह, इंजी. संजय श्रीवास्तव, लोक निर्माण विभाग से इंजी. राजकुमार, इंजी. सुनील कुमार कटियार, इंजी. रामप्रकाश, इंजी. बृजेश, इंजी राधेश्याम, इंजी. सफी उल्लाह, इंजी. कमलेश बाबू, इंजी. सतीश कुमार. इंजी. आरके द्विवेदी, इंजी. दिलीप कुमार राजौरिया, इंजी. प्रेमशंकर, इंजी. अतुल पाल, इंजी. अभिषेक, आदि लोग उपस्थित रहे।

जालौन से सौरभ पांडेय की रिपोर्ट