बर्डफ्लू को लेकर प्रशासन हुआ सतर्क, जिला पशु चिकित्साधिकारी ने बुलाई बैठक

जालौन। बर्ड फ्लू की आशंका से जागा प्रशासन और आनन-फानन में जो भी खामियां नजर आ रही हैं उसको दुरुस्त करने के लिए फौरी तौर परएक बैठक आयोजित की जा रही है जिसमें मुख्य चिकित्साधिकारी सहित अन्य अधिकारी भाग लेंगे और इस बीमारी को कैसे रोका जाए इसपर विस्तार में चर्चा की जाएगी। उक्त आशय की जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी डा. अशोक कुमार ने बताया कि मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. शाक्य ने अपने अधीनस्थों की बैठकबुलाई है जिसमें पोल्ट्री फार्म पर कैसे इस बीमारी की रोकथाम की जाए उसके मामले में जानकारी दी जाएगी।




वहीं उन्होंने यह भी बताया कि अभी तक इस बीमारी ने जनपद में पैर नहीं पसारेहैं। आगे लोग सुरक्षित रहें इसके लिए जो विशेष उपाय हैं उनकोलागू किया जाएगा। वहीं जानकारी के अनुसार जनपद में कई जगह पोल्ट्रीफार्म खुले हुए हैं परंतु उनमें मानकों का अभाव है। पहले भी बर्ड फ्लूपर अभियान चल चुका है। दिल्ली में कई लोगों की इससे मौत हो चुकी है। इसको लेकर यहां पर भी प्रशासन में सरगर्मियां तेज हो गई परंतु बजरिया झांसी रोड स्टेशन रोड आदि जगह पर जिस तरह से मीट कीदुकानें रखी हुई हैं और उनके आसपास इतनी गंदगी रहती है कि लोग नाकपर कपड़ा डालकर निकलते हैं। इतना ही नहीं बजरिया में दिन भर मुर्गा की कटान होती रहती है। खुले में मछली बिकती है और इसकी सारी गंदगी बगलमें बह रहे नाले में पटक दी जाती है। यह नाला पूरे नगर से घूमकर जाताहै जिसमें कई बार सफाई भी कराई गई परंतु आज नाले की स्थिति बदतर है। जनपद में मीट और अंडों की एक सैकड़ा से अधिक दुकानें हैं। इन सभी दुकानों के हालात इतने खराब हैं कि लोग बीमार हो जातेहैं। चिकन गुनिया और सीजनल बुखार से अभी भी जनपद के हजारों लोग लड़ रहे हैं। कुछ गांवों में लोगों की जानें चली गई। डेंगू जैसेमच्छर जैसे डेंगू हुआ जिसको मेडिकल कालेजों में रिफर कर दिया। आज वहदुनिया चले गए।



मुख्य चिकित्साधिकारी डा. अशोक कुमार द्वारा डेंगूऔर चिकन गुनिया से सुरक्षित होने के लिए अभियान चलाया गया। जिलाधिकारी संदीप कौर ने कई जगह टीमें अपने निर्देश पर भेजी। अभी भी लोग इस बीमारी से त्रस्त हैं। दीपावली का त्यौहार पास में हैऔर ऐसे में सफाई पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। हर घर में अभियान छिड़ा हुआ है। वहीं केेंद्र सरकार द्वारा स्वच्छता मिशन भी चलाया जा रहा है। सीएमओ के अंडर में एक नगर स्वास्थ्य अधिकारी भी तैनात हैं। इन सबके बावजूद बीमारियां थामे नहीं थम रही हैं। नगरपालिका उरई के ईओ रविंद्र कुमार ने कहा कि अगर मीट आदि की कटान सड़क पर होती हुई पाई जाएगी तो अभियान चलाकर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि लोगों का दायित्व बनता है कि वह घरों की गंदगी को नाली में न डालें। हर घर के बाहर सफाई कर्मी कूड़ा लेने के लिए जाते हैं और उनका एक निश्चित समयहै। वहीं उन्होंने यह भी आम जनता से अपील की है कि वह अपने-अपने वार्डों में जो सफाई कर्मी या नायक तैनात हैं उनको बताएं कि कहां गंदगी है ताकि बर्ड फ्लू जैसी बीमारी अगर फैलना भी चाह रही है तो उसको समय से पहले रोकने के लिए अभियान चलाया जा सके।

जालौन से सौरभ पांडेय की रिपोर्ट