अवैध खनन, जुआ, सट्टा पर लगेगा पूर्ण विरामः अपर पुलिस अधीक्षक

जालौन। जनता हितों की बातों को पुलिस नजरअंदाज करने का प्रयास न करें अन्यथा की स्थिति में उनके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जा सकती है। इतना ही नहीं सट्टा जुआ और अवैध खनन पर लगेगा पूर्ण विराम और कोई भी क्षेत्रीय थानाध्यक्ष अगर इसमें लिप्त पाया जाएगा तो उसको खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उक्त बात नवागंतुक अपर पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद्र शाक्य ने आज एक भेंटवार्ता के दौरान बताई।




उन्होंने कहा कि पुलिस का जो दायित्व है उसे निष्ठा और ईमानदारी के साथ पूर्ण करना चाहिए और जनता के सहयोग से अपराधियों पर नियंत्रण पाने के लिए उनका विश्वास जरूरी है। पुलिस एक ऐसी व्यवस्था है जिस पर काफी कुछ निर्भर करता है। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस अधीक्षक राकेश सिंह द्वारा बैठक में निर्देश जारी किए गए हैं कि जुआ सट्टा और अवैध खनन में अगर कोई थानाध्यक्ष अपनी मौखिक सहमति प्रकट करता है तो वह भी शक के दायरे में आता है। चूंकि थानाध्यक्ष के पास पूरे क्षेत्र की जानकारी होती है और क्षेत्र में कब कौन सी घटनाएं घट रही हैं इससे वह अनभिज्ञ नहीं रहता है इसलिए पहले उनकी चाल को थामना होगा और अंकुश लगाना पड़ेगा ताकि जो भी अवैध कारोबार जनपद के विभिन्न-विभिन्न क्षेत्रों में चोरी छिपे चल रहे हैं उन पर नियंत्रण पाया जा सके।



अपर पुलिस अधीक्षक शाक्य ने यहभी बताया कि मेरा पहला उद्देश्य अपराध को नियंत्रण करना है। दूसरा अवैध खनन पर लगाम लगाना और जिन-जिन क्षेत्रों में अवैध खनन होता है उसकी पूरी रिपोर्ट मेरे पास गोपनीय तौर पर आ चुकी है जिसमें मुख्य रूप से डकोर कदौरा कोटरा एट कालपी थानों के थानाध्यक्षों को निर्देश विशेष रूप से जारी किए जा रहे हैं कि वह अपने क्षेत्रों में खनन को प्रतिबंधित करें अगर हो रहा है तो उनके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। वहींउन्होंने सदर कोतवाली का निरीक्षण किया और जीडी से लेकर बंदीगृह आदि पर अपनी विशेष नजर डाली। जीडी में कमी पाने पर जीडी मुंशी धीरेंद्र चौहान को चेतावनी दी और डे आफीसर ऋषभ कुमार को सुबह छेड़छाड़ से क्षुब्ध होकर छात्रा ने आग लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया वहां पर लेट पहुंचने पर उनकी क्लास ली और सुधरने का समय दिया। कोतवाली निरीक्षण के समय प्रभारी कोतवाल सुनील कुमार तिवारी सीओ सिटी डा. जंगबहादुर यादव व कोतवाली का समस्त स्टाफ मौजूद रहा।

जालौन से सौरभ पांडेय की रिपोर्ट