अवैध संबंधों को लेकर सगे भांजे ने मामी के साथ मिल की हत्या

जालौन । अपर पुलिस अधीक्षक सुभाषचंद्र शाक्य ने विगत 19 नवंबर को ग्राम सहादतपुर में रोगी में राजकरन पाल पुत्र राजधर निवासी सिद्धार्थनगर की हत्या का राजफास करते हुये मामले का खुलासा करते हुये बताया कि युवक की हत्या में मामी-भांजे के बीच अवैध संबंध होना बताये। तो वहीं घटना में नामजद सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।




गौरतलब हो कि 19 नवंबर को कदौरा कस्बे के मोहल्ला सिद्धार्थनगर निवासी राजकरन पुत्र राजधर पाल का अधजली अवस्था में शव महेंद्र पाल की बोरिंग ग्राम सहादतपुर रोगी से बरामद हुआ था। जिसका पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया था। उक्त मामले में मृतक के भाई सीताराम पुत्र राजधर पाल ने कदौरा थाने में भाई की हत्या के मामले में विनीत, सोनू पुत्रगण महेंद्र पाल, महेंद्र पाल पुत्र खूबचंद्र के विरुद्ध तहरीर दी थी जिस पर पुलिस ने आरोपियों के विरुद्ध मुअसं. 527/16 धारा 302 भादवि में पंजीकृत कर लिया था।

युवक की हत्या का खुलासा करने के लिये पुलिस अधीक्षक डा. राकेश सिंह ने अपर पुलिस अधीक्षक सुभाषचंद्र शाक्य, क्षेत्राधिकारी कालपी सुबोध कुमार गौतम व थानाध्यक्ष कदौरा को निर्देशित किया था। दौरान विवेचना पुलिस ने विनीत, सोनू पुत्रगण महेंद्र पाल व महेंद्र पाल की गिरफ्तारी के साथ ही मृतक युवक की पत्नी ममता पाल निवासी सिद्धार्थनगर को गिरफ्तार कर घटना प्रेम प्रसंग को लेकर घटित होने का अनावरण करते हुये अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अभियुक्त विनीत का अपनी सगी मामी ममता से प्रेम प्रसंग चल रहा था जिसका विनीत के मामा राजकरन पाल ने विरोध करते हुये अपनी पत्नी ममता को डांटा था।




इसी कारण विनीत व ममता ने मिलकर राजकरन को बोरिंग में गिराकर हत्या कर दी और सूखी कर्बी डालकर उसके शव को जला दिया था इस कार्य में विनीत के सगे भाई सोनू व विनीत के पिता महेंद्रपाल ने साक्ष्य मिटाने का कार्य किया था। पुलिस ने चारों हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। उक्त मामले में आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम में थानाध्यक्ष कदौरा लालबहादुर यादव, वरिष्ठ उप निरीक्षक घनश्याम सिंह यादव, सिपाही शैलेंद्र सिंह, रामकुमार, महिला होमगार्ड द्रोपती शामिल रहे जिन्हें पुलिस अधीक्षक ने ढाई हजार रुपये से पुरस्कृत किया है।

जालौन से सौरभ पांडेय की रिपोर्ट