जम्मू कश्मीर: अनुच्छेद 370 हटने के सात माह बाद बेटे उमर से मिले फारूक अब्दुल्ला

Farooq Abdullah
जम्मू कश्मीर: अनुच्छेद 370 हटने के सात माह बाद बेटे उमर से मिले फारूक अब्दुल्ला

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर की राजनैतिक पार्टी नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के मुखिया और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने अपने बेटे पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला से श्रीनगर की उप जेल में मुलाकात की। करीब सात माह बाद हुई इस मुलाकात के बाद पिता—पुत्र काफी भावुक नजर आए। पूर्व मुख्य मंत्री फारूक अब्दुल्ला जनसुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत अपनी हिरासत खत्म होने के बाद शुक्रवार अपने आवास से नजदीक में ही हरि निवास पहुंचे जहां उनके बेटे तथा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को पीएसए के तहत नजरबंद रखा गया है। इस दौरान दोनों नेताओं ने एक दूसरे को गले लगा लिया।

Jammu And Kashmir Farooq Abdullah Meets Son Omar Seven Months After Article 370 Was Removed :

जम्मू कश्मीर प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि फारूक अब्दुल्ला ने प्रशासन से सात महीने बाद अपने बेटे से मुलाकात कराने का अनुरोध किया था, जिसे प्रशासन ने स्वीकार कर लिया। अधिकारियों ने कहा कि दोनों की मुलाकात करीब एक घंटे चली। गौरतलब है कि केन्द्र सरकार ने पिछले साल पांच अगस्त को तत्कालीन जम्मू-कश्मीर राज्य से विशेष दर्जा वापस ले लिया था, जिसके बाद फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और एक और मुख्यमंत्री एवं पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को हिरासत में ले लिया गया था। इसके बाद 15 सितंबर को फारूक के खिलाफ पीएसए के तहत मामला दर्ज किया गया जबकि उनके बेटे उमर की ऐहतियातन हिरासत पांच फरवरी को खत्म हो रही थी लेकिन उससे कुछ ही घंटे पहले इसे छह महीने के लिये बढ़ा दिया गया था।

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर की राजनैतिक पार्टी नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के मुखिया और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने अपने बेटे पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला से श्रीनगर की उप जेल में मुलाकात की। करीब सात माह बाद हुई इस मुलाकात के बाद पिता—पुत्र काफी भावुक नजर आए। पूर्व मुख्य मंत्री फारूक अब्दुल्ला जनसुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत अपनी हिरासत खत्म होने के बाद शुक्रवार अपने आवास से नजदीक में ही हरि निवास पहुंचे जहां उनके बेटे तथा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को पीएसए के तहत नजरबंद रखा गया है। इस दौरान दोनों नेताओं ने एक दूसरे को गले लगा लिया। जम्मू कश्मीर प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि फारूक अब्दुल्ला ने प्रशासन से सात महीने बाद अपने बेटे से मुलाकात कराने का अनुरोध किया था, जिसे प्रशासन ने स्वीकार कर लिया। अधिकारियों ने कहा कि दोनों की मुलाकात करीब एक घंटे चली। गौरतलब है कि केन्द्र सरकार ने पिछले साल पांच अगस्त को तत्कालीन जम्मू-कश्मीर राज्य से विशेष दर्जा वापस ले लिया था, जिसके बाद फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और एक और मुख्यमंत्री एवं पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को हिरासत में ले लिया गया था। इसके बाद 15 सितंबर को फारूक के खिलाफ पीएसए के तहत मामला दर्ज किया गया जबकि उनके बेटे उमर की ऐहतियातन हिरासत पांच फरवरी को खत्म हो रही थी लेकिन उससे कुछ ही घंटे पहले इसे छह महीने के लिये बढ़ा दिया गया था।