जम्मू-कश्मीरः अनंतनाग में सुरक्षाबलों ने लश्कर के दो आतंकियों को किया ढेर, सर्च आपरेशन जारी

army
जम्मू-कश्मीरः अनंतनाग में सुरक्षाबलों ने लश्कर के दो आतंकियों को किया ढेर, सर्च आपरेशन जारी

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के बिजबेहरा में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया। सुरक्षाबलों को जानकारी मिली की अनंतनाग ​जिले के बिजबेहरा में दो से तीन आतंकी छिपे हुए हैं। 3 आरआर, सीआरपीएफ और एसओजी की संयुक्त टीम ने आतंकियों की धर पकड़ के लिए अभियान शुरू किया।

Jammu And Kashmir Security Forces Pile Up Two Lashkar Terrorists In Anantnag Search Operation Continues :

यह देख आतंकियों ने सेना पर फायरिंग शुरू कर दी। इस पर सेना ने उन्हें आत्मसर्पण करने की अपील की लेकिन आतंकी फायरिंग करते रहे। इस पर जवाबी कार्रवाई करते हुए सेना ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया। इसके बाद सेना पूरे इलाके में सर्च आपरेशन चला रही है। मारे गए आतंकियों की शिनाख्त नवीद भट पुत्र फुरकान के रूप में हुई है।

उसने साल 2018 में आतंक की ओर रुख किया था। बताया जा रहा है कि लश्कर ने उसे बतौर कमांडर कुलगाम में आतंकवादी वारदातों को अंजाम देने व युवाओं को आतंकवाद की ओर मोड़ने की जिम्मेदारी दी थी। नवीद का मारा जाना सुरक्षाबलों के बड़ी कामयाबी मानी जा रही है। वहीं, दूसरे आतंकी की शिनाख्त आकिब यासीन भट के रूप में हुई है।

इसने भी साल 2018 में आतंकवाद की तरफ रुख किया था। मारे गए दोनों आतंकियों के पास से एक एके-47, एक पिस्टल, कई मैग्जीन बरामद हुई हैं। साथ ही कई अन्य आपत्तिजनक वस्तुएं व सामग्री भी बरामद हुई है। इस ऑपरेशन को 3-आरआर, सीआरपीएफ और एसओजी की संयुक्त टीम ने अंजाम दिया और आतंकियों को मार गिराने में सफलता पाई है।

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के बिजबेहरा में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया। सुरक्षाबलों को जानकारी मिली की अनंतनाग ​जिले के बिजबेहरा में दो से तीन आतंकी छिपे हुए हैं। 3 आरआर, सीआरपीएफ और एसओजी की संयुक्त टीम ने आतंकियों की धर पकड़ के लिए अभियान शुरू किया। यह देख आतंकियों ने सेना पर फायरिंग शुरू कर दी। इस पर सेना ने उन्हें आत्मसर्पण करने की अपील की लेकिन आतंकी फायरिंग करते रहे। इस पर जवाबी कार्रवाई करते हुए सेना ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया। इसके बाद सेना पूरे इलाके में सर्च आपरेशन चला रही है। मारे गए आतंकियों की शिनाख्त नवीद भट पुत्र फुरकान के रूप में हुई है। उसने साल 2018 में आतंक की ओर रुख किया था। बताया जा रहा है कि लश्कर ने उसे बतौर कमांडर कुलगाम में आतंकवादी वारदातों को अंजाम देने व युवाओं को आतंकवाद की ओर मोड़ने की जिम्मेदारी दी थी। नवीद का मारा जाना सुरक्षाबलों के बड़ी कामयाबी मानी जा रही है। वहीं, दूसरे आतंकी की शिनाख्त आकिब यासीन भट के रूप में हुई है। इसने भी साल 2018 में आतंकवाद की तरफ रुख किया था। मारे गए दोनों आतंकियों के पास से एक एके-47, एक पिस्टल, कई मैग्जीन बरामद हुई हैं। साथ ही कई अन्य आपत्तिजनक वस्तुएं व सामग्री भी बरामद हुई है। इस ऑपरेशन को 3-आरआर, सीआरपीएफ और एसओजी की संयुक्त टीम ने अंजाम दिया और आतंकियों को मार गिराने में सफलता पाई है।