आतंकी खतरे के कारण रोकी गई अमरनाथ यात्रा, केंद्र सरकार ने पर्यटकों को वापस बुलाया

amarnath yatra
जम्मू-कश्मीर में बारूद का सुरंग मिला, केंद्र सरकार ने अमरनाथ यात्रियों को वापस बुलाया

जम्मू। जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरा मंडरा रहा है। आतं​की खतरे के कारण केंद्र सरकार ने यात्रा पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही यात्रियों केा वापस बुला लिया है। बताया जा रहा है कि, सुरक्षा बलों को अमरनाथ यात्रा के रूट पर सर्च ऑपरेशन के दौरान स्नाइपर राइफल मिली है। इसके अलावा रास्ते से पाकिस्तान में निर्मित कई बारूदी सुरंग भी मिली हैं।

Jammu Kashmir Amarnath Yatra Advisory To Tourists And Yatris :

भारतीय सेना ने बयान जारी कर बताया है कि फिलहाल इलाके में ऑपरेशन जारी है और अन्य बारूदी सुरंगों के मिलने की भी आशंका है। जम्मू—कश्मीर प्रशासन ने कहा कि, राज्य में बड़े आतंकी हमले का इनपुट मिला है। आतंकी हमले का इनपुट मिलने के बाद यात्रा पर रोक लगाने का फैसला लिया गया है। ये यात्रा 15 अगस्त तक चलनी थी, लेकिन रोक दी गई है।

राज्य में पर्यटकों के लिए अचानक यात्रा खत्म किए जाने संबंधी एडवाइजरी जारी किए जाने पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर नाराजगी और चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि सीरियसली? आपने सोचा है कि एक सरकारी आदेश से पर्यटक जल्दी से घाटी छोड़कर भागने लगेंगे? कितने पर्यटक इस आदेश को देखकर भागने लगेंगे। लोगों के भागने से एयरपोर्ट और हाइवे पर जाम लग जाएगा।

जम्मू। जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरा मंडरा रहा है। आतं​की खतरे के कारण केंद्र सरकार ने यात्रा पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही यात्रियों केा वापस बुला लिया है। बताया जा रहा है कि, सुरक्षा बलों को अमरनाथ यात्रा के रूट पर सर्च ऑपरेशन के दौरान स्नाइपर राइफल मिली है। इसके अलावा रास्ते से पाकिस्तान में निर्मित कई बारूदी सुरंग भी मिली हैं। भारतीय सेना ने बयान जारी कर बताया है कि फिलहाल इलाके में ऑपरेशन जारी है और अन्य बारूदी सुरंगों के मिलने की भी आशंका है। जम्मू—कश्मीर प्रशासन ने कहा कि, राज्य में बड़े आतंकी हमले का इनपुट मिला है। आतंकी हमले का इनपुट मिलने के बाद यात्रा पर रोक लगाने का फैसला लिया गया है। ये यात्रा 15 अगस्त तक चलनी थी, लेकिन रोक दी गई है। राज्य में पर्यटकों के लिए अचानक यात्रा खत्म किए जाने संबंधी एडवाइजरी जारी किए जाने पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर नाराजगी और चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि सीरियसली? आपने सोचा है कि एक सरकारी आदेश से पर्यटक जल्दी से घाटी छोड़कर भागने लगेंगे? कितने पर्यटक इस आदेश को देखकर भागने लगेंगे। लोगों के भागने से एयरपोर्ट और हाइवे पर जाम लग जाएगा।