अनुच्छेद 370 हटाने पर बोला अमेरिका, कहा – सभी पक्ष LOC पर बनाए रखें शांति

loc
अनुच्छेद 370 हटाने पर बोला अमेरिका, कहा - सभी पक्ष LOC पर बनाए रखें शांति

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद अमेरिका ने नियंत्रण रेखा (LOC) पर सभी पक्षों से शांति और स्थिरता बनाए रखने की अपील की है। सोमवार को मीडिया से बात करते हुए अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मॉर्गन ओर्टागस ने कहा कि अमेरिका भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में घटनाक्रम पर करीब से नजर रख रहा है।

Jammu Kashmir Article 370 Modi Government Usa Loc India Pakistan :

ओर्टागस ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि हम नियंत्रण रेखा पर सभी पक्षों से शांति और स्थिरता बनाए रखने की अपील करते हैं। जम्मू कश्मीर के विशेष राज्य के दर्जे को समाप्त किए जाने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम जम्मू कश्मीर की घटनाओं पर करीब से नजर रख रहे हैं। हमने जम्मू कश्मीर के संवैधानिक दर्जे में तब्दीली की भारत की घोषणा और राज्य को दो केन्द्र शासित प्रदेशों में बांटने की योजना को संज्ञान में लिया है।

प्रवक्ता ने कहा कि भारत ने जम्मू कश्मीर में कार्रवाई को पूरी तरह से आंतरिक मामला बताया है। हालांकि, इस दौरान उन्होंने जम्मू कश्मीर में मानवाधिकारों के कथित उल्लंघन पर चिंता जताई। प्रवक्ता ने कहा,’हम (जम्मू कश्मीर में) हिरासत की खबरों पर चिंतित हैं और लोगों के अधिकारों के सम्मान तथा प्रभावित समुदायों से चर्चा की अपील करते हैं।’

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद अमेरिका ने नियंत्रण रेखा (LOC) पर सभी पक्षों से शांति और स्थिरता बनाए रखने की अपील की है। सोमवार को मीडिया से बात करते हुए अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मॉर्गन ओर्टागस ने कहा कि अमेरिका भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर में घटनाक्रम पर करीब से नजर रख रहा है। ओर्टागस ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि हम नियंत्रण रेखा पर सभी पक्षों से शांति और स्थिरता बनाए रखने की अपील करते हैं। जम्मू कश्मीर के विशेष राज्य के दर्जे को समाप्त किए जाने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम जम्मू कश्मीर की घटनाओं पर करीब से नजर रख रहे हैं। हमने जम्मू कश्मीर के संवैधानिक दर्जे में तब्दीली की भारत की घोषणा और राज्य को दो केन्द्र शासित प्रदेशों में बांटने की योजना को संज्ञान में लिया है। प्रवक्ता ने कहा कि भारत ने जम्मू कश्मीर में कार्रवाई को पूरी तरह से आंतरिक मामला बताया है। हालांकि, इस दौरान उन्होंने जम्मू कश्मीर में मानवाधिकारों के कथित उल्लंघन पर चिंता जताई। प्रवक्ता ने कहा,'हम (जम्मू कश्मीर में) हिरासत की खबरों पर चिंतित हैं और लोगों के अधिकारों के सम्मान तथा प्रभावित समुदायों से चर्चा की अपील करते हैं।'