J&K पुलिस ने पाक उच्चायोग से कहा- ‘लेकर जाओ आतंकी अबु दुजाना का शव’

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने दिल्ली में पाकिस्तान उच्चायोग से संपर्क कर उनसे लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर अबु दुजाना के शव को ले जाने को कहा है। सुरक्षा बलों ने मंगलवार को मुठभेड़ में अबु दुजाना को मार गिराया था। दुजाना पाकिस्तान के गिलगित-बाल्टिस्तान का रहने वाला था। वह करीब 7 साल से कश्मीर में सक्रिय था और आतंकियों की A++ कैटिगरी में था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 27 साल में पहली बार हुआ है जब पाक उच्चायुक्त को चिट्ठी लिखकर किसी आतंकी के शव को ले जाने को कहा गया है। हालांकि अभी तक पाकिस्तान उच्चायोग से किसी भी तरह का जवाब नहीं आया है।

{ यह भी पढ़ें:- पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहन रखीं, उसके पास भी एटम बम है: फारुख अब्दुल्ला }

कश्मीर पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) मुनीर खान ने बताया कि पाकिस्तान उच्चायोग से दुजाना के शव को कब्जे में लेने को कहा गया है। आईजीपी के मुताबिक, यदि वे शव नहीं ले जाते हैं तो हम उसकी उचित प्रकार से अंत्येष्टि कर देंगे।

प्रशासन की इच्छा है कि दुजाना के परिजन उसकी अंत्येष्टि से पहले आखिरी बार अपने बेटे को देख पाएं और इसी मंशा से पाकिस्तान उच्चायोग से संपर्क साधा गया। पुलिस ने दुजाना के शव की अंत्येष्टि के लिए उसे स्थानीय नागरिकों को सौंपने से मना कर दिया।

{ यह भी पढ़ें:- पाकिस्तान में ओवरलोडिड बस खाई में गिरी, 27 की मौत }

दुजाना के साथ ही एक और आतंकी मारा गया था। सुरक्षाबलों को इस इलाके में लश्कर के कमांडर अबू दुजाना सहित 3 आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। अबू दुजाना के सिर पर 15 लाख रुपये का इनाम था। वह कई बार सुरक्षाबलों को चकमा दे चुका था।

Loading...