दुनिया का पहला रेस्टोरेंट, जहां मिलता है इंसान का गोश्त

दुनिया का पहला रेस्टोरेंट, जहां मिलता है इंसान का गोश्त

नई दिल्ली। अपने कहावत सुनी होगी कि वह दिन दूर नहीं जब इंसान इंसान को काट कर खाएगा। अब ये कहावत चरितार्थ हो चली है, वह भी उस देश में जिसे उगते सूरज का देश कहा जाता है। हम बात कर रहे है जापान की, जहां साल 2014 में सरकार ने इंसान के गोश्त को कानूनी तौर पर खाने योग्य करार दे दिया था। अब सुनने में आ रहा है कि जापान के टोक्यो में एक ऐसा रेस्टोरेंट खोल दिया है जहां इंसान के गोश्त से बने पकवान परोसे जा रहे हैं।

इस रेस्टोरेंट का अँग्रेजी नाम ‘Edible Brother’ है जिसका मतलब है ‘खाने योग्य भाई’। मतलब आप जिसे खा रहे हैं वह एक इंसान है जिसे आप इंसानियत के नाते अपना भाई कह सकते थे। यह रेस्टोरेन्ट दुनिया का पहला रोस्टोरेन्ट है जहां इंसान का गोश्त बेंचा जा रहा है।

{ यह भी पढ़ें:- इन देशों में फोटो खींचना है बैन, इसके पीछे है ये बड़ी वजह }

फिलहाल सामने आई रिपोर्ट्स के मुताबिक इस रेस्टोरेन्ट का पहला ग्राहक एक अर्जेन्टीना का एक नागरिक था। जिसका कहना है कि उसे जो डिश परोसी गई वह सुअर के गोश्त जैसी लग रही थी, चूंकि गोश्त को मसालों के साथ पकाया गया था, इसलिए वह सही तौर पर नहीं जान पाया कि उसे खाने के लिए क्या दिया गया।

बताया जा रहा है कि इस रेस्टोरेंट में मिलने वाली डिशों की कीमत प्रति प्लेट 110 डॉलर से 1000 डॉलर तक रखी गई है।

{ यह भी पढ़ें:- जापान में तूफान लैन की दस्तक, उड़ान सेवाएं रद्द }

वैसे भारत जैसे देश के लिए यह खबर आंखे खोलने वाली है, क्योंकि दुनिया के एक विकसित देश के कानून ने इंसान के गोश्त को खाने की कानूनी छूट दे दी है। अब वो दिन दूर नहीं जब एक बुद्धिजीवी वर्ग जापान का हवाला देते हुए गौमांस से पहले इंसान के मांस को खाने की आजादी मांगता नजर आएगा। अगर भारतीय सरकार ने उन्हें ऐसा करने से रोका तो यह अभिव्यक्ति और खाने की आजादी के साथ—साथ देश की पिछड़ी सोच का सवाल बन जाएगा।

Loading...