जेसन गिलेस्पी ने बताया, ब्रायन लारा-सचिन तेंदुलकर में से किसको आउट था सबसे मुश्किल

lara
जेसन गिलेस्पी ने बताया, ब्रायन लारा-सचिन तेंदुलकर में से किसको आउट था सबसे मुश्किल

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज जेसन गिलेस्पी ने कहा है कि सचिन तेंडुलकर और ब्रायन लारा दोनों को आउट करने में मुश्किल होती थी लेकिन लारा की अपेक्षा सचिन को आउट करना ज्यादा मुश्किल था। गिलेस्पी ने अपने करियर के दौरान इन दोनों को आउट करना काफी मुश्किल बताया है।  

Jason Gillespie Told Who Was The Most Difficult Out Of Brian Lara Sachin Tendulkar :

काउ कॉर्नर क्रॉनिकल्स ने गिलेस्पी के हवाले से लिखा है कि दोनों अलग तरह के खिलाड़ी थे, दोनों समान तरीके से मुश्किल। मुझे हमेशा लगता है कि सचिन को विकेट लेना थोड़ा मुश्किल होता था हालांकि वह लारा की तरह आपको मारते नहीं थे।

उन्होंने कहा कि दोनों शानदार खिलाड़ी हैं। मैं इस बात से खुश हूं कि मुझे अब इन दोनों को गेंदबाजी नहीं करना पड़ती। यह दोनों बेहतरीन थे। मेरे लिए यह सम्मान की बात है कि मैं आपके सामने बैठकर यह बता रहा हूं कि मैंने इन दोनों को गेंदबाजी की।

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से तेज गेंदबाजी में नाम कमाने वाले जेसन गिलेस्पी के नाम बल्लेबाजी करते हुए टेस्ट क्रिकेट में एक दोहरा शतक भी दर्ज है। दरअसल उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ साल 2006 में चिटगांव टेस्ट में नौवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 201 रन की पारी खेली थी। यह अभी भी टेस्ट क्रिकेट में एक विश्व रिकॉर्ड है।

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज जेसन गिलेस्पी ने कहा है कि सचिन तेंडुलकर और ब्रायन लारा दोनों को आउट करने में मुश्किल होती थी लेकिन लारा की अपेक्षा सचिन को आउट करना ज्यादा मुश्किल था। गिलेस्पी ने अपने करियर के दौरान इन दोनों को आउट करना काफी मुश्किल बताया है।   काउ कॉर्नर क्रॉनिकल्स ने गिलेस्पी के हवाले से लिखा है कि दोनों अलग तरह के खिलाड़ी थे, दोनों समान तरीके से मुश्किल। मुझे हमेशा लगता है कि सचिन को विकेट लेना थोड़ा मुश्किल होता था हालांकि वह लारा की तरह आपको मारते नहीं थे। उन्होंने कहा कि दोनों शानदार खिलाड़ी हैं। मैं इस बात से खुश हूं कि मुझे अब इन दोनों को गेंदबाजी नहीं करना पड़ती। यह दोनों बेहतरीन थे। मेरे लिए यह सम्मान की बात है कि मैं आपके सामने बैठकर यह बता रहा हूं कि मैंने इन दोनों को गेंदबाजी की। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से तेज गेंदबाजी में नाम कमाने वाले जेसन गिलेस्पी के नाम बल्लेबाजी करते हुए टेस्ट क्रिकेट में एक दोहरा शतक भी दर्ज है। दरअसल उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ साल 2006 में चिटगांव टेस्ट में नौवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 201 रन की पारी खेली थी। यह अभी भी टेस्ट क्रिकेट में एक विश्व रिकॉर्ड है।