संस्कृति विभाग से छीनकर जौहर विवि को सौंप दिया गया पंडाल का स्वामित्व

रामपुर : टीम पर्दाफाश ने अपने पाठकों को पहले ही बताया था कि समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता व नगर विकास मंत्री मोहम्मद आजम खां के रामपुर स्थित मो. अली जौहर विश्वविद्यालय को राज्य सरकार ने एक और सौगात दी है। संस्कृति विभाग जौहर विश्वविद्यालय में 12 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से भव्य पंडाल बनवा रहा है। इसके तैयार होने के बाद वह इसे जौहर विवि को सौंप देगा। और आज पंडाल भवन का स्वामित्व राज्य सरकार के संस्कृति विभाग से छीनकर जौहर विश्वविद्यालय को सौंप दिया गया है। यही नहीं, राज्य सरकार के प्रयोग के लिए मुफ्त आवंटन की शर्त भी हटा दी गयी है।




रामपुर के जौहर विश्वविद्यालय परिसर में संस्कृति विभाग ने 12 करोड़ रुपये से अधिक खर्च कर भव्य पंडाल की स्थापना की थी। इस बाबत 13 मई 2015 को शासनादेश जारी किया गया था, जिसके अनुसार इस पंडाल का स्वामित्व संस्कृति विभाग के पास था। पिछले दिनों हुई कैबिनेट बैठक में मंत्री आजम खान ने संस्कृति विभाग से स्वामित्व छीनने सहित पंडाल से जुड़े कई महत्वपूर्ण फैसले कराने में सफलता पायी थी। गुरुवार को इस आशय का शासनादेश भी जारी हो गया है।

अभी तक पंडाल भवन का स्वामित्व संस्कृति विभाग के पास सुरक्षित रहने और किसी अन्य व्यक्ति, संस्था, विभाग अथवा एजेंसी को किसी भी प्रकार से बेचने, विनिमय करने या हस्तांतरित करने पर रोक की बात निर्धारित थी। अब इस पंडाल भवन का स्वामित्व मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय में सुरक्षित कर दिया गया है। इसी तरह अभी तक शैक्षिक, सांस्कृतिक व राष्ट्रीय कार्यक्रमों के लिए किसी संस्था या विभाग को निर्धारित शुल्क जमा कराकर पंडाल के उपयोग की अनुमति का प्रावधान था।



Loading...