जावेद जाफरी पिता के पार्थिव देह को लेकर कब्रिस्तान, 1 बजे से 3:00 बजे के बीच किया जाएगा सुपुर्द-ए-खाक

javed

लोगों के दिलों पर राज करने वाले कॉमेडियन जगदीप उर्फ सैयद इश्तियाक अहमद जाफरी का बीती रात निधन हो गया।  रिपोर्ट्स की मानें तो जगदीप को सुपुर्द-ए-खाक किए जाने का वक्त 1:30- 3:00 के बीच का है।

Javed Jaffrey Cemetery With The Body Of Fathers Body :

बताया जा रहा है कि परिवार जगदीप के पोते और जावेद के बेटे मीजान जाफरी के आने का इंतजार कर रहा है, जो मुंबई से बाहर अपने फार्महाउस पर थे। उनके बेटे जावेद पार्थिव देह को लेकर कब्रिस्तान पहुंच चुके हैं।

जगदीप जावेद और नावेद जाफरी के पिता थे। उनकी मुस्कान नाम की एक बेटी भी है। बताया जा रहा कि 81 साल के जगदीप लंबे समय से बीमारियों से परेशान चल रहे थे।

पॉपुलर किरदार ‘सूरमा भोपाली’ 

जगदीप रमेश सिप्पी की फिल्म ‘शोले’ (1975) के किरदार सूरमा भोपाली के नाम से पॉपुलर थे। यह बात कम ही लोग जानते होंगे कि इस किरदार की खोज का क्रेडिट भी उन्हें ही जाता है।

दरअसल, जब ‘शोले’ के राइटर सलीम-जावेद कहानी लिख रहे थे, तब जगदीप ने खुद उन्हें भोपाल के एक फॉरेस्ट ऑफिसर के बारे में बताया था, जिसे सूरमा कहा जाता था।

जगदीप ने सूरमा की खासियत के बारे में भी सलीम-जावेद के साथ डिस्कशन किया था, जिन्हें फिल्म में शामिल किया गया। यह खुलासा खुद जगदीप ने एक इंटरव्यू में किया था।

जगदीप ने बतौर निर्देशक किरदार ‘सूरमा भोपाली’ पर 1988 में इसी टाइटल के साथ फिल्म बनाई और उन्होंने ही इसमें मुख्य भूमिका निभाई थी। फिल्म को उनके बेटे नवेद ने प्रोड्यूस किया था। अमिताभ बच्चन, रेखा और धर्मेंद्र ने इसमें कैमियो किया था।

 

लोगों के दिलों पर राज करने वाले कॉमेडियन जगदीप उर्फ सैयद इश्तियाक अहमद जाफरी का बीती रात निधन हो गया।  रिपोर्ट्स की मानें तो जगदीप को सुपुर्द-ए-खाक किए जाने का वक्त 1:30- 3:00 के बीच का है। बताया जा रहा है कि परिवार जगदीप के पोते और जावेद के बेटे मीजान जाफरी के आने का इंतजार कर रहा है, जो मुंबई से बाहर अपने फार्महाउस पर थे। उनके बेटे जावेद पार्थिव देह को लेकर कब्रिस्तान पहुंच चुके हैं। जगदीप जावेद और नावेद जाफरी के पिता थे। उनकी मुस्कान नाम की एक बेटी भी है। बताया जा रहा कि 81 साल के जगदीप लंबे समय से बीमारियों से परेशान चल रहे थे।

पॉपुलर किरदार 'सूरमा भोपाली' 

जगदीप रमेश सिप्पी की फिल्म 'शोले' (1975) के किरदार सूरमा भोपाली के नाम से पॉपुलर थे। यह बात कम ही लोग जानते होंगे कि इस किरदार की खोज का क्रेडिट भी उन्हें ही जाता है। https://www.instagram.com/p/CCaG2nsnyUD/?utm_source=ig_embed दरअसल, जब 'शोले' के राइटर सलीम-जावेद कहानी लिख रहे थे, तब जगदीप ने खुद उन्हें भोपाल के एक फॉरेस्ट ऑफिसर के बारे में बताया था, जिसे सूरमा कहा जाता था। जगदीप ने सूरमा की खासियत के बारे में भी सलीम-जावेद के साथ डिस्कशन किया था, जिन्हें फिल्म में शामिल किया गया। यह खुलासा खुद जगदीप ने एक इंटरव्यू में किया था। जगदीप ने बतौर निर्देशक किरदार 'सूरमा भोपाली' पर 1988 में इसी टाइटल के साथ फिल्म बनाई और उन्होंने ही इसमें मुख्य भूमिका निभाई थी। फिल्म को उनके बेटे नवेद ने प्रोड्यूस किया था। अमिताभ बच्चन, रेखा और धर्मेंद्र ने इसमें कैमियो किया था।