JNU छात्र संघ आज करेंगे संसद मार्च, गेट पर 1200 पुलिसकर्मी तैनात

JNU छात्र संघ आज करेंगे संसद मार्च, गेट पर 1200 पुलिसकर्मी तैनात
JNU छात्र संघ आज करेंगे संसद मार्च, गेट पर 1200 पुलिसकर्मी तैनात

नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) कैंपस में सोमवार यानि आज के दिन वहां का माहौल काफी हंगामेदार हो सकता है। दरअसल नए हॉस्टल मैनुअल के विरोध में छात्रों ने जेएनयू से संसद तक मार्च निकालने का ऐलान किया है वहीं पुलिस ने भी छात्रों को रोकने के लिए अपनी कमर कस ली है। जेएनयू छात्रों को मार्च की इजाजत नहीं दी गई है।

Jawaharlal Nehru University Students Parliament March :

किए गए सुरक्षा के कड़े इंतजाम

  • छात्र कैंपस से बाहर ना निकलें इसकी पूरी तैयारी भी की गई है।
  • जेएनयू गेट के बाहर भारी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है।
  • दिल्ली पुलिस ने 9 कंपनी फोर्स तैनात की है, जिसमें पैरामिलिट्री फोर्स भी शामिल है।
  • करीब 1200 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं, जिनमें दिल्ली पुलिस भी शामिल है।

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक जेएनयू छात्रों को संसद तक नहीं जाने दिया जाएगा। पार्लियामेंट के आसपास धारा-144 लगी हुई है। सूत्रों का कहना है कि जेएनयू छात्रों को जेएनयू के आसपास ही एक किलोमीटर के दायरे में रोकने की तैयारी है।

छात्रसंघ की ओर से जारी किए गए पर्चे में लिखा है कि फरवरी 2019 के सीएजी रिपोर्ट के मुताबिक सेकेंड्री और हायर से 94,036 करोड़ रुपयों का इस्तेमाल नहीं किया गया। सीएजी रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि 7298 करोड़ रुपये रिसर्च और विकास कार्यों में खर्च होने थे जो नहीं हुए।

जाने सांसदों से क्या है मांग….

छात्रसंघ ने सांसदों से सवाल किया है कि बढ़ी हुई फीस पर वे साथ देंगे।
क्या सभी के लिए वे पब्लिक फंडेड एजुकेशन की मांग करेंगे. क्या वे पब्लिक फंडेड एजुकेशन पर हो रहे प्रहार को रोकेंगे?
छात्रसंघ का कहना है कि छात्र आगे बढ़कर मांग करें साथ ही नीति निर्माताओं को इस बात का जवाब देने दें कि शिक्षा अधिकार है, विशेषाधिकार नहीं।

नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) कैंपस में सोमवार यानि आज के दिन वहां का माहौल काफी हंगामेदार हो सकता है। दरअसल नए हॉस्टल मैनुअल के विरोध में छात्रों ने जेएनयू से संसद तक मार्च निकालने का ऐलान किया है वहीं पुलिस ने भी छात्रों को रोकने के लिए अपनी कमर कस ली है। जेएनयू छात्रों को मार्च की इजाजत नहीं दी गई है। किए गए सुरक्षा के कड़े इंतजाम
  • छात्र कैंपस से बाहर ना निकलें इसकी पूरी तैयारी भी की गई है।
  • जेएनयू गेट के बाहर भारी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है।
  • दिल्ली पुलिस ने 9 कंपनी फोर्स तैनात की है, जिसमें पैरामिलिट्री फोर्स भी शामिल है।
  • करीब 1200 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं, जिनमें दिल्ली पुलिस भी शामिल है।
दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक जेएनयू छात्रों को संसद तक नहीं जाने दिया जाएगा। पार्लियामेंट के आसपास धारा-144 लगी हुई है। सूत्रों का कहना है कि जेएनयू छात्रों को जेएनयू के आसपास ही एक किलोमीटर के दायरे में रोकने की तैयारी है। छात्रसंघ की ओर से जारी किए गए पर्चे में लिखा है कि फरवरी 2019 के सीएजी रिपोर्ट के मुताबिक सेकेंड्री और हायर से 94,036 करोड़ रुपयों का इस्तेमाल नहीं किया गया। सीएजी रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि 7298 करोड़ रुपये रिसर्च और विकास कार्यों में खर्च होने थे जो नहीं हुए। जाने सांसदों से क्या है मांग.... छात्रसंघ ने सांसदों से सवाल किया है कि बढ़ी हुई फीस पर वे साथ देंगे। क्या सभी के लिए वे पब्लिक फंडेड एजुकेशन की मांग करेंगे. क्या वे पब्लिक फंडेड एजुकेशन पर हो रहे प्रहार को रोकेंगे? छात्रसंघ का कहना है कि छात्र आगे बढ़कर मांग करें साथ ही नीति निर्माताओं को इस बात का जवाब देने दें कि शिक्षा अधिकार है, विशेषाधिकार नहीं।