जय शाह मानहानि मामले की सुनवाई टली, नहीं पहुंचे शिकायतकर्ता के वकील

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह ने बीते दिनों वेब पोर्टल ‘द वायर’ के ख़िलाफ़ 100 करोड़ की आपराधिक मानहानि का मुक़दमा दर्ज कराया है। आपराधिक मानहानि के मुकदमे की सुनवाई बुधवार को अहमदाबाद के मेट्रोपॉलिटन अदालत ने स्थगित कर दी। यह सुनवाई शिकायतकर्ता जय शाह के वकील के अदालत में उपस्थित ना होने की वजह से की गई।

जय शाह के वकील ने अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट एसके गढ़वी से वक्त मांगते हुए कहा कि वरिष्ठ अधिवक्ता एसवी राजू अदालत में पेश नहीं हो सके क्योंकि वह उच्च न्यायालय में व्यस्त हैं। अदालत ने समय देते हुए मामले की सुनवाई 16 अक्तूबर तक स्थगित कर दी।

{ यह भी पढ़ें:- मोदी का गुजरात मॉडल फंसा जातीय समीकरण में, कांग्रेस को फायदा }

वहीं जय शाह के मामले को लेकर विपक्ष लगातार हमलावर है। हमले की जद में अमित शाह से लेकर प्रधानमंत्री मोदी तक हैं। कांग्रेस को लग रहा है कि गुजरात चुनाव से पहले उसे वो मुद्दा मिल गया जिसकी तलाश थी। अमित शाह के बेटे जय शाह के कारोबार में नाटकीय उछाल को लेकर दिल्ली, जयपुर और लखनऊ तीनों शहरों में प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर पार्टी ने अमित शाह से इस्तीफा मांगा और प्रधानमंत्री से चुप्पी तोड़ते हुए इस मामले की न्यायिक जांच कराने की भी मांग की।

बता दें कि द वायर ने अपनी खबर में दावा किया गया था कि जय शाह की फर्म टेंपल एंटरप्राइजेज का टर्नओवर भाजपा के 2014 में सत्ता में आने के बाद बेहद तेजी से बढ़ा। सोमवार को अपने ख़िलाफ़ छपी रिपोर्ट को लेकर जय शाह ने अहमदाबाद की कोर्ट में 100 करोड़ का केस कर दिया।

{ यह भी पढ़ें:- 22 साल बाद कांग्रेस तीन नौजवानों के साथ जीतेगी चुनाव....? }