जेवर-बुलंदशहर कांड: फेल हुई डायल-100, दो घंटे देर से पहुंची पुलिस, STF करेगी जांच

लखनऊ। यूपी में लॉं एंड ऑर्डर को कायम करने की कवायद में लगी प्रदेश सरकार के सारे दावे फेल नजर आने लगे हैं। मथुरा कांड और सहारनपुर में भड़की हिंसा के बाद एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जहां ग्रेटर नोएडा के जेवर थाना क्षेत्र के साबौता गांव के पास बुधवार की रात हथियार बंद बदमाशों ने चार महिलाओं के साथ बलात्कार किया और एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। इस पूरे मामले में पुलिस की लचर कार्यशैली उजागर हुई है। मौके पर मौजूद लोगों की माने तो डायल-100 पर सूचना देने के बाद करीब 2 घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। इस मामले की जांच के लिये स्पेशल टास्क फोर्स(एसटीएफ़) को लगाया गया है।




इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों ने 44 हजार रुपये और महिलाओं के जेवर लूट लिये। वहीं महिलाओं का आरोप है कि बदमाशों ने उनके साथ गैंगरेप किया है। फिलहाल पुलिस ने पीडिताओं को मेडिकल के लिये भेज दिया है। पुलिस की लचर कार्यशैली को लेकर स्थानीय लोगों में काफी रोष है। इस वारदात के बाद साफ तौर पर अंदाजा लगाया जा सकता है कि सड़क पर चलाने वाले लोग खुद को कितना सुरक्शित महसूस कर रहे हैं।


Jewar Bulandshahr Case Dial 100 Not Reached Timely Up Stf To Probe The Whole Incident :

2 घंटे बाद पहुंची डायल-100—

आरोप है कि घटना की जानकारी देने के करीब दो घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची हैं। आक्रोशित लोगों ने मौके पर पहुंची पुलिस का जमकर विरोध भी किया। बताते चलें कि ठीक इसी तरह बुलंदशहर हाइवे पर परिवार के साथ जा रही महिलाओं के साथ बदमाशों ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था। पुलिस की नाकामी के कारण ही पिछली सरकार को आलोचना झेलनी पड़ी थी और ऐसा ही कुछ अब योगी आदित्यनाथ की सरकार में हो रहा है।

लखनऊ। यूपी में लॉं एंड ऑर्डर को कायम करने की कवायद में लगी प्रदेश सरकार के सारे दावे फेल नजर आने लगे हैं। मथुरा कांड और सहारनपुर में भड़की हिंसा के बाद एक सनसनीखेज मामला सामने आया है, जहां ग्रेटर नोएडा के जेवर थाना क्षेत्र के साबौता गांव के पास बुधवार की रात हथियार बंद बदमाशों ने चार महिलाओं के साथ बलात्कार किया और एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। इस पूरे मामले में पुलिस की लचर कार्यशैली उजागर हुई है। मौके पर मौजूद लोगों की माने तो डायल-100 पर सूचना देने के बाद करीब 2 घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। इस मामले की जांच के लिये स्पेशल टास्क फोर्स(एसटीएफ़) को लगाया गया है। इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों ने 44 हजार रुपये और महिलाओं के जेवर लूट लिये। वहीं महिलाओं का आरोप है कि बदमाशों ने उनके साथ गैंगरेप किया है। फिलहाल पुलिस ने पीडिताओं को मेडिकल के लिये भेज दिया है। पुलिस की लचर कार्यशैली को लेकर स्थानीय लोगों में काफी रोष है। इस वारदात के बाद साफ तौर पर अंदाजा लगाया जा सकता है कि सड़क पर चलाने वाले लोग खुद को कितना सुरक्शित महसूस कर रहे हैं।

2 घंटे बाद पहुंची डायल-100---

आरोप है कि घटना की जानकारी देने के करीब दो घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची हैं। आक्रोशित लोगों ने मौके पर पहुंची पुलिस का जमकर विरोध भी किया। बताते चलें कि ठीक इसी तरह बुलंदशहर हाइवे पर परिवार के साथ जा रही महिलाओं के साथ बदमाशों ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था। पुलिस की नाकामी के कारण ही पिछली सरकार को आलोचना झेलनी पड़ी थी और ऐसा ही कुछ अब योगी आदित्यनाथ की सरकार में हो रहा है।