जेवर गैंगरेप कांड: बदमाशों को पकड़ने में SSP का मास्टर प्लान, मुठभेड़ में 4 आरोपी गिरफ्तार

नोएडा। उत्तर प्रदेश में जेवर गैंगरेप कांड ने सूबे में सनसनी मचा दी थी, प्रशासनिक अमले के हाथ-पैर फूल गए थे। इस वारदात का खुलासा पुलिस के लिये बड़ी चुनौती बन गया था। नोएडा पुलिस ने शनिवार देर रात दबिश के दौरान चार बदमाशों को धर दबोचा, वहीं दो अन्य बदमाश फरार होने में कामयाब हो गए। गिरफ्तार आरोपियों में एक को मुठभेड़ में गोली लगी है, जिसका इलाज जारी है। पुलिस का दावा है कि पकड़े गए आरोपी बावरिया गिरोह के हैं।

ये था मामला- —

बताते चलें कि जेवर-बुलंदशहर स्टेट हाईवे पर बीती 24 मई की रात बुलंदशहर जा रहे परिवार से बदमाशों ने लूटपाट की। परिवार के मुखिया ने लूटपाट का विरोध किया तो बदमाशों ने गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। इस परिवार की सभी चारों महिलाओं का आरोप है कि उनके साथ गैंगरेप किया गया था। आरोप था कि वारदात के दौरान पुलिस से 100 नंबर पर कॉल कर मदद मांगी गई, लेकिन पुलिस वारदात के डेढ़ घंटे बाद मौके पर पहुंची। उस समय तक बदमाश घटना को अंजाम दे चुके थे।

नोएडा एसएसपी ने बताई वारदात की असलियत—

एसएसपी लव कुमार ने बताया कि जेवर कांड के आरोपियों को पकड़ना उनके लिए किसी चुनौती से कम नहीं था। आरोपियों को पकड़ने के लिए कई टीमों को लगाया गया था। अलीगढ़ और बुलंदशहर पुलिस के साथ-साथ यूपी एसटीएफ भी बदमाशों की तलाश में जुटी हुई थी। एसएसपी ने बताया, बीते दो महीनों के दौरान कई गैंग्स को ट्रेस किया गया, जिसके बाद शनिवार देर रात पुलिस को इन बदमाशों के कार से जेवर आने की सूचना मिली थी।

ये था पुलिस का प्लान—

पुलिस ने जाल बिछाकर पूरा प्लान तैयार किया। जैसे ही बदमाश वहां आए, पुलिस ने उन्हें पकड़ने की कोशिश की। इस दौरान बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में एक गोली बदमाश को जा लगी, पुलिस ने चारों को मौके से अरेस्ट कर लिया, जबकि दो अन्य फरार होने में कामयाब हो गए। एसएसपी लव कुमार ने बताया कि पकड़े गए बदमाश भरतपुर, झज्जर और बुलंदशहर के रहने वाले हैं।

बदमाशों ने कबूली वारदात—

बदमाशों ने जेवर गैंगरेप कांड को अंजाम देने की बात कबूल कर ली है। पुलिस के मुताबिक बदमाशों के पास पीड़ितों के दो मोबाइल भी बरामद हुए हैं। इनके पास से 3 तमंचे, जेवरात, कार, सरिया, एक्सेल आदि सामान बरामद किया गया है। इस वारदात को अंजाम देने में आठ लोग शामिल थे।