लूट के लिए सर्राफ की हत्या, जल्दबाजी में माल छोड़कर दूसरा बैग लेकर भाग निकले हत्यारे

Murder for loot
लूट के लिए सर्राफ की हत्या, जल्दबाजी में माल छोड़कर दूसरा बैग लेकर भाग निकले हत्यारे

लखनऊ। बाराबंकी जिले के हैदरगढ़ कस्बे में सर्राफे का कारोबार करने वाले लखनऊ निवासी कारोबारी को लूटने के प्रयास से आए बदमाशों की गोली मारकर हत्या कर बुधवार की शाम सनसनीखेज़ वारदात को अंजाम दिया। गोली मारने के बाद की हड़भड़ाहट में बदमाश सर्राफ का माल से भरा बैग छोड़कर दूसरा बैग लेकर ही फरार हो गए।

Jeweller Shot Dead For Loot Near Lucknow :

मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी के अमीनाबाद में कटरा मकबूलगंज मोहल्ला निवासी अमित रस्तोगी हैदरगढ़ में अपना पुस्तैनी ज्वेलरी शोरूम चलाते है। अमित रोज शाम को दुकान बंद होने के बाद मुनीम सुरेश कुमार के साथ रोडवेज की बस से घर जाते हैं। बुधवार शाम को भी शोरूम बंद होने के बाद अमित सुल्तानपुर डिपो की बस से निकले थे। बस लोनीकटरा थानाक्षेत्र के गौतोना के पास पहुंची थी कि तभी बाइक से आए तीन बदमाशों ने ओवरटेक कर रोक दिया।

जब तक बस का चालक कुछ समझ पाता तब तक दो बदमाश हाथों में असलहा लेकर बस में दाखिल हो गए। वे सीधे परिचालक के पीछे की सीट पर बैठे अमित व सुरेश के पास पहुंचे और उनसे गहनों से भरा बैग मांगने लगे। अमित ने बैग देने से इंकार किया तो एक बदमाश ने अमित को गोली मार दी। गोली पड़ते ही अमित ने सीट के नीचे रखे बैग में लात मारकर उसे पीछे कर दिया। हड़बड़ाहट में बदमाश अमित के बैग की जगह दूसरे का बैग लेकर वहां से भाग निकले।

जिसके बाद बस में मौजूद लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। घटनास्थल तक पहुंची पुलिस ने अमित रस्तोगी को घायल अवस्था में अस्पताल पहुंचाया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

घटना के बाद पुलिस ने हाईवे के अलावा आसपास इलाकों में देर रात तक सर्च आपरेशन चलाया, लेकिन कोई सफलता नही मिल सकी। उसके मुताबिक बदमाशों के हुलिए के आधार पर बदमाशों की तलाश की जा रही है। मुनीम सुरेश के मुताबिक बैग में नगदी व गहनों को मिलाकर लगभग एक करोड़ का माल था।

लखनऊ। बाराबंकी जिले के हैदरगढ़ कस्बे में सर्राफे का कारोबार करने वाले लखनऊ निवासी कारोबारी को लूटने के प्रयास से आए बदमाशों की गोली मारकर हत्या कर बुधवार की शाम सनसनीखेज़ वारदात को अंजाम दिया। गोली मारने के बाद की हड़भड़ाहट में बदमाश सर्राफ का माल से भरा बैग छोड़कर दूसरा बैग लेकर ही फरार हो गए।मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी के अमीनाबाद में कटरा मकबूलगंज मोहल्ला निवासी अमित रस्तोगी हैदरगढ़ में अपना पुस्तैनी ज्वेलरी शोरूम चलाते है। अमित रोज शाम को दुकान बंद होने के बाद मुनीम सुरेश कुमार के साथ रोडवेज की बस से घर जाते हैं। बुधवार शाम को भी शोरूम बंद होने के बाद अमित सुल्तानपुर डिपो की बस से निकले थे। बस लोनीकटरा थानाक्षेत्र के गौतोना के पास पहुंची थी कि तभी बाइक से आए तीन बदमाशों ने ओवरटेक कर रोक दिया।जब तक बस का चालक कुछ समझ पाता तब तक दो बदमाश हाथों में असलहा लेकर बस में दाखिल हो गए। वे सीधे परिचालक के पीछे की सीट पर बैठे अमित व सुरेश के पास पहुंचे और उनसे गहनों से भरा बैग मांगने लगे। अमित ने बैग देने से इंकार किया तो एक बदमाश ने अमित को गोली मार दी। गोली पड़ते ही अमित ने सीट के नीचे रखे बैग में लात मारकर उसे पीछे कर दिया। हड़बड़ाहट में बदमाश अमित के बैग की जगह दूसरे का बैग लेकर वहां से भाग निकले।जिसके बाद बस में मौजूद लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। घटनास्थल तक पहुंची पुलिस ने अमित रस्तोगी को घायल अवस्था में अस्पताल पहुंचाया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।घटना के बाद पुलिस ने हाईवे के अलावा आसपास इलाकों में देर रात तक सर्च आपरेशन चलाया, लेकिन कोई सफलता नही मिल सकी। उसके मुताबिक बदमाशों के हुलिए के आधार पर बदमाशों की तलाश की जा रही है। मुनीम सुरेश के मुताबिक बैग में नगदी व गहनों को मिलाकर लगभग एक करोड़ का माल था।