यूपी के स्वास्थ्य महकमे की शर्मनाक तस्वीर, तकिया ना मिलने पर सिर के नीचे रखा कटा हुआ पैर

झांसी मेडिकल कॉलेज, कटा हुआ पैर
यूपी के स्वास्थ्य महकमे की शर्मनाक तस्वीर, तकिया ना मिलने पर सिर के नीचे रखा कटा हुआ पैर

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के झांसी से बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां डॉक्टरों की करतूत से पूरे स्वास्थ्य महकमे को शर्मसार होना पड़ा है। झांसी के महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों ने इलाज कराने एक व्यक्ति के सिर के नीचे उसी का कटा हुआ पैर रख दिया, ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि मरीज के सिर के नीचे रखने के लिए तकिया नहीं मिली थी। इस नजारे को देख अस्पताल में मौजूद लोगों के होश फाख्ता हो गए। इस मामले में सीएमएस डॉ. हरीशचंद्र आर्य ने एक सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर समेत 4 लोगों को सस्पेंड कर दिया है।

दरअसल, शनिवार सुबह शहर के मऊरानीपुर थाना क्षेत्र में एक युवक को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। सड़क हादसे में घायल हुए युवक की हालत बहुत खराब थी, जिसके चलते डॉक्टरों को उसका बायां पैर काटना पड़ा. बताया जाता है घायल युवक के बाएं पैर के नीचे डॉक्टरों ने तकिया रख दिया और युवक के सिर के नीचे उन्होंने युवक का कटा हुआ पैर ही तकिये की तरह युवक के सिर के नीचे लगा दिया, जिससे युवक पूरे समय कटे हुए पैर की बदबू से परेशान रहा।

{ यह भी पढ़ें:- हिस्ट्रीशीटर से 'सेटेलमेंट' का ऑडियो वायरल, थाना प्रभारी बोला- बचने के लिए BJP नेता को मैनेज करो }

अस्पताल में मौजूद कुछ लोगों ने इस घटना की तस्वीर लेकर उसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया। कुछ ही देर में यह मामला शासन-प्रशासन तक जा पहुंचा। सोशल मीडिया पर लोगों ने डॉक्टरों की इस हरकत पर गंभीर आरोप लगाए। मौके पर पहुंचे हॉस्पिटल के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी (सीएमएस) डॉ. हरीशचंद्र आर्य भी इस नजारे को देखकर हैरान हो गए। उन्होंने वहां तैनात डॉक्टरों को कड़ी फटकार लगाई।

रिपोर्ट के मुताबिक मामले पर एक जांच बैठा दी गई है और मेडिकल कालेज की प्रधानाचार्य से पूरे मामले पर रिपोर्ट तलब की गई है। घटना के दौरान ड्यूटी पर तैनात इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर डॉ. महेंद्र पाल सिंह, सीनियर रेजीडेंट आर्थोपैडिक डॉ. आलोक अग्रवाल, सिस्टर इंचार्ज दीपा नारंग व नर्स शशि श्रीवास्तव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। वहीं, डॉक्टर ऑन कॉल डॉ. प्रवीण सरावगी पर चार्जशीट जारी की गई है।

{ यह भी पढ़ें:- सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया आदेश, छात्रों को 10-10 लाख मुआवजा दे मेडिकल कॉलेज }

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के झांसी से बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां डॉक्टरों की करतूत से पूरे स्वास्थ्य महकमे को शर्मसार होना पड़ा है। झांसी के महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों ने इलाज कराने एक व्यक्ति के सिर के नीचे उसी का कटा हुआ पैर रख दिया, ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि मरीज के सिर के नीचे रखने के लिए तकिया नहीं मिली थी। इस नजारे को देख अस्पताल में मौजूद लोगों के होश फाख्ता हो गए।…
Loading...