1. हिन्दी समाचार
  2. झांसी एनकाउंटर केस : पुष्पेंद्र यादव की दादी की मौत, परिजनों ने कहा-सदमा लगने से गई जान

झांसी एनकाउंटर केस : पुष्पेंद्र यादव की दादी की मौत, परिजनों ने कहा-सदमा लगने से गई जान

By शिव मौर्या 
Updated Date

Jhansi Encounter Case Pushpendra Yadavs Grandmother Dies

झांसी। एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव की 90 वर्षीय दादी की रविवार मौत हो गयी। परिजनों का आरोप है कि पुष्पेंद्र की मौत के बाद उसकी दादी को सदमा लगा है, जिसके कारण उनकी जान चली गयी है। एक सप्ताह के अंदर एक परिवार के दो लोगों की मौत के कारण पूरा गांव में शोक में डूबा हुआ है। वहीं, परिजनों का रो—रोकर बुरा हाल है। दादी की मौत की खबर मिलने के बाद भारी संख्या में लोग वहां पहुंचे हैं। अंतिम संस्कार में सैकड़ों लोगों ने नम आंखों से विदाई दी।

पढ़ें :- 13 वर्षीय किशोरी के साथ दुकर्म, नही दर्ज हुआ मुकदमा थाना प्रभारी पर दबाव बनाने का लगाया आरोप

गौरतलब है कि, छह अक्टूबर को मुठभेड़ में पुलिस ने पुष्पेंद्र यादव को मार गिराया था। पुलिस के मुताबिक, गुरसराय इलाके में पुलिस को देख पुष्पेंद्र ने फायरिंग शुरू कर दी थी। जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से पुष्पेंद्र घायल हो गया था। इलाज के दौरान डाॅक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। वहीं, परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने पुष्पेंद्र की हत्या की है। परिजनों ने घटना में शामिल पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करने की मांग की थी।

वहीं इस घटना के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि, विजयदशमी की सुबह से पहले रात के अंधेरे में झांसी में सत्ता की ताकत झोंककर पुष्पेंद्र यादव यादव का अंतिम संस्कार कर सरकार ने न्याय की चिता जलाई है। मृतक के परिवारजन और स्थानीय जनता मांग कर रही थी कि फर्जी एनकाउंटर करने वाले दारोगा धर्मेंद्र सिंह के खिलाफ भी धारा 302 में रिपोर्ट लिखी जाए, तभी पुष्पेंद्र के शव को लिया जाएगा। पुलिस ने पांच अक्टूबर को पुष्पेंद्र को एनकाउंटर में पुलिस ने मार गिराने का दावा किया था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X