झारखंड विधानसभा चुनाव : जेडीयू ने जारी किया स्टार प्रचारकों की लिस्ट, प्रशांत किशोर का नाम भी शामिल​

jdu
झारखंड विधानसभा चुनाव : जेडीयू ने जारी किया अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट, प्रशांत किशोर का नाम भी शामिल​

झारखंड। झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर जेडीयू ने अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार के साथ जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर का नाम इस लिस्ट में शामिल किया गया है। यह पहली बार हो रहा है जब​ नीतीश कुमार के बाद प्रशांत किशोर का नाम पार्टी के लेटर हेड में शामिल किया गया है।

Jharkhand Assembly Elections Jdu Released Its List Of Star Campaigners Including The Name Of Prashant Kishore :

इस लिस्ट में मुंगेर के सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह जैसे दिग्‍गज पार्टी नेताओं का नाम भी प्रशांत किशोर के बाद रखा गया है। बता दें कि, केंद्र और बिहार में एक साथ चुनाव लड़ने वाली जेडीयू झारखंड में बीजेपी से अलग हो गयी है। इसके लिए जेडीयू पिछले कई महीनों से तैयारी कर रही थी।

बीते सितंबर महीने में रांची में आयोजित पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक में नीतीश कुमार ने बीजेपी पर इशारों-इशारों में तंज कसा था। पार्टी के राज्य स्तरीय सम्मेलन में बोलते हुए नीतीश कुमार ने कहा था कि पिछले 19 सालों से झारखंड में ज्यादातर एक ही पार्टी की सरकार रही है।

इसके बावजूद विकास में राज्य पिछड़ गया है। उन्होंने कहा कि यह सोचकर आश्चर्य होता है कि 19 साल पहले राज्य का गठन हुआ था, वह (झारखंड) आज भी आगे नहीं बढ़ पाया है। राज्य के बंटवारे के वक्त बिहार के लोग इसलिए मायूस थे कि खनिज संपदा झारखंड में चला गया और झारखंड के लोग बंटवारे के फैसले से खुश थे।

झारखंड। झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर जेडीयू ने अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार के साथ जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर का नाम इस लिस्ट में शामिल किया गया है। यह पहली बार हो रहा है जब​ नीतीश कुमार के बाद प्रशांत किशोर का नाम पार्टी के लेटर हेड में शामिल किया गया है। इस लिस्ट में मुंगेर के सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह जैसे दिग्‍गज पार्टी नेताओं का नाम भी प्रशांत किशोर के बाद रखा गया है। बता दें कि, केंद्र और बिहार में एक साथ चुनाव लड़ने वाली जेडीयू झारखंड में बीजेपी से अलग हो गयी है। इसके लिए जेडीयू पिछले कई महीनों से तैयारी कर रही थी। बीते सितंबर महीने में रांची में आयोजित पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक में नीतीश कुमार ने बीजेपी पर इशारों-इशारों में तंज कसा था। पार्टी के राज्य स्तरीय सम्मेलन में बोलते हुए नीतीश कुमार ने कहा था कि पिछले 19 सालों से झारखंड में ज्यादातर एक ही पार्टी की सरकार रही है। इसके बावजूद विकास में राज्य पिछड़ गया है। उन्होंने कहा कि यह सोचकर आश्चर्य होता है कि 19 साल पहले राज्य का गठन हुआ था, वह (झारखंड) आज भी आगे नहीं बढ़ पाया है। राज्य के बंटवारे के वक्त बिहार के लोग इसलिए मायूस थे कि खनिज संपदा झारखंड में चला गया और झारखंड के लोग बंटवारे के फैसले से खुश थे।