झारखंड: पुलवामा के शहीद की पत्नी झारखंड में बेच रही है सब्जी, CM सोरेने मदद के लिए आये आगे

jharkhand
झारखंड: पुलवामा के शहीद की पत्नी झारखंड में बेच रही है सब्जी, CM सोरेने मदद के लिए आये आगे

रांची। जहां एक तरफ केन्द्र की मोदी सरकार दावा करती है कि शहीद जवानो के परिवारों की सरकार ने पूरी तरह से मदद की है, वहीं झारख्ंड में एक ऐसा मामला सामने आया जिसने सरकार की पोल खोल के रख दी है। दरअसल बीते वर्ष पुलवामा आतंकी हमले में झारखंड के शहीद हुए जवान की पत्नी आर्थिक तंगी के चलते सब्जी बेंचने को मजबूर है। जब पुलवामा बरसी के मौके पर शुक्रवार को उसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर डाली गयी तब यह मामला सामने आया। तस्वीरें देखते ही झारखंड के सीएम ने मामले का संज्ञान लेते हुए परिवार की मदद के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिये हैं।

Jharkhand Pulwama Martyrs Wife Is Selling Vegetables In Jharkhand Cm Soren Came Forward To Help :

आपको बता दें कि 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में सीआरपीएफ जवानो पर आतंकी हमला हुआ था जिसमें 40 हवानो की मौत हो गयी थी। इन्ही 40 जवानो में झारखंड के गुमला जिले के शहीद हुए जवान विजय सोरेंग भी शामिल थे। लेकिन आज भी उनका परिवार सरकारी मदद का इंतजार कर रहा है। शुक्रवार को हमले की पहली बरसी के दिन शहीद की पत्नी की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई जिसमें वो सड़क किनारे बैठकर सब्जी बेच रही थी। जिसके बाद प्रशांत नाम के ट्विटर यूजर ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को टैग कर मदद की गुहार लगाई।

इसी के बाद सीएम हेमंत सोरेन ने अपने अधिकारियों को ट्वीट करते हुए कहा, शहीद देश की धरोहर होते हैं। कृपया इनकी हर सम्भव मदद करते हुए ज़रूरी सभी सरकारी योजनाओं का लाभ जल्द से जल्द पहुँचाते हुए सूचित करें। ध्यान आकृष्ट कराने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद प्रशांत भाई। सरकार की तरफ़ से इन्हें हर सम्भव मदद की जाएगी। आपको बता दें कि सत्ता में आने के बाद से ही हेमंत सोरेन लगातार ट्विटर के माध्यम से ही समस्याओं को निवारण कर रहे हैं।

जैसे ही मुख्यमंत्री का आदेश आयो तो जिलाधिकारी हरकत में आए और उन्होंने जवाब में लिखा “सर जिला प्रशासन की ओर से हर संभव मदद देने की पहल शहीद के आश्रितों को की जा रही है। आज सुबह ही अनुमंडल पदाधिकारी, सिमडेगा तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी, सिमडेगा ने शहीद के आश्रितों के घर जाकर उनसे मुलाकात तथा उनका हालचाल लिया।

बताया गया कि 16 फरवरी 2019 को जब शहीद विजय सोरेंग का शव रांची हवाई अड्डा पर पहुंचा था तो तात्कालिन बीजेपी सरकार के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने शहीद विजय सोरेंग की पत्नी विमला देवी से फोन पर बात की थी। उस दौरान सरकार की तरफ से कहा गया था कि पूरी झारखंड सरकार शहीद के परिवार के साथ है। उन्होंने कहा था कि इस शहादत पर झारखंड के हर नागरिक को गर्व है। लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी शहीद के परिवार को अबतक सरकार की तरफ से की गई सभी घोषणाओं का लाभ नहीं मिल सका है।

रांची। जहां एक तरफ केन्द्र की मोदी सरकार दावा करती है कि शहीद जवानो के परिवारों की सरकार ने पूरी तरह से मदद की है, वहीं झारख्ंड में एक ऐसा मामला सामने आया जिसने सरकार की पोल खोल के रख दी है। दरअसल बीते वर्ष पुलवामा आतंकी हमले में झारखंड के शहीद हुए जवान की पत्नी आर्थिक तंगी के चलते सब्जी बेंचने को मजबूर है। जब पुलवामा बरसी के मौके पर शुक्रवार को उसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर डाली गयी तब यह मामला सामने आया। तस्वीरें देखते ही झारखंड के सीएम ने मामले का संज्ञान लेते हुए परिवार की मदद के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिये हैं। आपको बता दें कि 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में सीआरपीएफ जवानो पर आतंकी हमला हुआ था जिसमें 40 हवानो की मौत हो गयी थी। इन्ही 40 जवानो में झारखंड के गुमला जिले के शहीद हुए जवान विजय सोरेंग भी शामिल थे। लेकिन आज भी उनका परिवार सरकारी मदद का इंतजार कर रहा है। शुक्रवार को हमले की पहली बरसी के दिन शहीद की पत्नी की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई जिसमें वो सड़क किनारे बैठकर सब्जी बेच रही थी। जिसके बाद प्रशांत नाम के ट्विटर यूजर ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को टैग कर मदद की गुहार लगाई। इसी के बाद सीएम हेमंत सोरेन ने अपने अधिकारियों को ट्वीट करते हुए कहा, शहीद देश की धरोहर होते हैं। कृपया इनकी हर सम्भव मदद करते हुए ज़रूरी सभी सरकारी योजनाओं का लाभ जल्द से जल्द पहुँचाते हुए सूचित करें। ध्यान आकृष्ट कराने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद प्रशांत भाई। सरकार की तरफ़ से इन्हें हर सम्भव मदद की जाएगी। आपको बता दें कि सत्ता में आने के बाद से ही हेमंत सोरेन लगातार ट्विटर के माध्यम से ही समस्याओं को निवारण कर रहे हैं। जैसे ही मुख्यमंत्री का आदेश आयो तो जिलाधिकारी हरकत में आए और उन्होंने जवाब में लिखा "सर जिला प्रशासन की ओर से हर संभव मदद देने की पहल शहीद के आश्रितों को की जा रही है। आज सुबह ही अनुमंडल पदाधिकारी, सिमडेगा तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी, सिमडेगा ने शहीद के आश्रितों के घर जाकर उनसे मुलाकात तथा उनका हालचाल लिया। बताया गया कि 16 फरवरी 2019 को जब शहीद विजय सोरेंग का शव रांची हवाई अड्डा पर पहुंचा था तो तात्कालिन बीजेपी सरकार के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने शहीद विजय सोरेंग की पत्नी विमला देवी से फोन पर बात की थी। उस दौरान सरकार की तरफ से कहा गया था कि पूरी झारखंड सरकार शहीद के परिवार के साथ है। उन्होंने कहा था कि इस शहादत पर झारखंड के हर नागरिक को गर्व है। लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी शहीद के परिवार को अबतक सरकार की तरफ से की गई सभी घोषणाओं का लाभ नहीं मिल सका है।