Jio की धमाकेदार एंट्री से idea को एक बार फिर से लगी करोड़ों की चपत

नई दिल्ली। टेलिकॉम सेक्टर में जियो की एंट्री ने आइडिया सेल्युलर को भारी चपत लगाई है। आइडिया सेल्यूलर को मार्च में समाप्त चौथी तिमाही में 325.6 करोड़ रुपये का कुल घाटा हुआ है। आपको बता दें कि कंपनी ने बीते वर्ष की समान अवधि के दौरान 449.2 करोड़ का मुनाफा दर्ज किया था। कंपनी ने एक बयान में बताया कि उसे लगातार दूसरी तिमाही में घाटा हुआ है। इससे पहले अक्टूबर-दिसंबर 2016 तिमाही में भी कंपनी को 383.87 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध घाटा हुआ था। जबकि इससे पहले अक्टूबर-दिसंबर 2015 में उसे 659.35 करोड़ रुपये लाभ हुआ था।




आइडिया सेल्यूलर ने एक बयान में कहा

कंपनी को पहली बार वार्षिक आधार पर भी एकीकृत घाटा हुआ है जो वित्त वर्ष 2016-17 में 404 करोड़ रुपये रहा है जबकि वित्त वर्ष 2015-16 में कंपनी को 2,174.2 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। इस दौरान कंपनी की वार्षिक आय भी घटकर 35,882.7 करोड़ रुपये रह गई जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 36,162.5 करोड़ रपये रही थी। अक्टूबर से अप्रैल 2017 तक की अवधि को टेलिकॉम अनिरंतरता कहा जा सकता है, जिसने स्थायी रूप से गतिशीलता व्यापार के पैरामीटर को बदलकर रख दिया। जिसमें दूरसंचार कारोबार के मानदंडों में स्थायी तौर पर बदलाव आया है। गौर करने वाली बात यह है कि पिछले साल सितंबर में रिलायंस जियो ने भारतीय दूरसंचार बाजार में कदम रखा। रिलायंस जियो ने वॉयस कॉल और 4G सेवाओं की निशुल्क शुरुआत की और इस साल मार्च तक अपने फ्री ऑफर्स जारी रखा।

Loading...