जिस जगह पिता ने किया सुसाइड, 7 दिन बाद उसी जगह मिली बेटी की डेडबॉडी

गाज़ियाबाद। यूपी के गाज़ियाबाद मे चार्टेड अकाउंटेंट की तैयारी कर रही एक छात्रा ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। हैरानी की बात यह है कि 5 मई को मृतका के पिता ने भी इसी जगह सुसाइड किया था, जिससे छात्रा काफी दिनों से परेशान चल रही थी। सूचना मिलने के काफी देर बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराने की बात की, परिजनों ने पोस्टमार्टम कराने से साफ इंकार कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो मामला संदिग्ध लग रहा था।




घटना गाजियाबाद के सिहानीगेट की है। यहाँ मेघा वर्मा ने ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली। मेघा वर्मा अपने परिवार वालों के साथ रहती थी और दिल्ली से चार्टेड अकाउंटेंट(सीए) की पढ़ाई कर रही थी। मृतका के परिजनों का कहना है कि मेघा गुरुवार दोपहर अपनी फ्रेंड के घर जाने की बात कहकर निकली थी। शाम होने तक जब वो घर वापस नहीं लौटी तो परिजनों ने उसे तलाशना शुरू किया। मेघा की तलाश करते हुए जब परिजन एएलटी फ्लाईओवर के नीचे रेलवे ट्रैक पर पहुंचे, वहां का नजारा देख सबके होश उड़ गये। रेलवे ट्रैक
पर उसका शव पड़ा हुआ था। घटना की सूचना पुलिस को दी गयी।

पुलिस का कहना है, परिजनों ने लिखित सूचना दी है जिसमे वो शव का पोस्टमार्टम कराने से मना कर रहे हैं। पुलिस ने स्थानीय पार्षद और अन्य लोगों की मौजूदगी में परिजनों के बयान दर्ज कर शव को सौंप दिया।

5 मई को पिता ने भी किया था सुसाइड




मेघा के पिता अशोक वर्मा जो कि दिल्ली में जूते फैक्ट्री में काम करते थे, उन्होंने भी 5 मई 2017 को इसी जगह ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी थी, जहां उनकी बेटी मेघा की लाश मिली है। अशोक वर्मा ने अपनी पत्नी से झगडा करने के बाद उनपर धारदार हथियार से हमला कर दिया था, जिसके बाद वो अपनी पत्नी को अस्पताल लेकर गए और भर्ती कराने के बाद खुद ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। बताया जा रहा है कि अशोक परिवारिक विवाद के चलते परेशान रहते थे।